DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में जदयू के साथ गठबंधन का परिणाम सुखद: डा. जोशी

भाजपा के वरीय नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. मुरली मनोहर जोशी ने केंद्र से बिहार की प्रगति के लिए इसे जल्द से जल्द विशेष राज्य का दर्जा देने का अनुरोध किया है। उन्होंने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की वकालत करते हुए कहा है कि महंगाई पर काबू नहीं पाया जा सका है। इसके लिए उन्होंने आर्थिक नीतियों में बदलाव लाने की जरूरत बताई। डा. जोशी शुक्रवार को यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि केन्द्र की नई सरकार के सामने कई चुनौतियां हैं। पड़ोसी देशों में जो स्थितियां बन रहीं हैं उससे अपने देश की सीमा को सुरक्षित रखना बड़ी चुनौती है। इसके लिए नई नीति बनानी होगी। पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश और नेपाल सभी जगह उथल-पुथल की स्थिति है। भारत के प्रति अमेरिका का बदलता रुख भी चिंता का विषय है।

पड़ोसी देश में जनतंत्र मजबूत रहे यह हमारे हित में है। पड़ोस में बदलते घटनाक्रम पर हमें ध्यान देना होगा और इसके लिए राष्ट्रीय सोच बनाने की जरूरत है। आर्थिक मामलों में भी हमें सावधानी बरतनी होगी। मनमोहन सरकार के पिछले कार्यकाल में एक करोड़ लोगों की नौकरी चली गई। अभी भी रोजगार के नए अवसरों की स्थितियां पैदा नहीं हुई हैं। सरकार महंगाई को काबू में करने का दावा तो कर रही है लेकिन हकीकत कुछ और है। दवा, खाद्यान्न आदि के दाम बढ़ रहे हैं।

उन्होंने संसद के नियमित सत्र और अधिक से अधिक बैठक करने पर जोर दिया। लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन व भाजपा के हिन्दुत्व के मुद्दे से भटक ने जैसे प्रश्नों का उत्तर देने से डा. जोशी बचते हुए उन्होंने कहा कि सभी सवालों पर विचार-विमर्श होगा।

बिहार में जदयू के साथ गठबंधन पर उन्होंने कहा था कि इसका परिणाम सुखद रहा है और राज्य की जनता ने भी अपनी स्वीकारा है।डा. जोशी यहां आरएसएस के शिक्षा वर्ग में भाग लेने आए हैं। उनकी मुलाकात सरसंघ चालक मोहन भागवत से भी हुई। संवाददाता सम्मेलन में सूबे के पीएचईडी मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, भाजपा के नगर अध्यक्ष निरंजन साह भी उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार को मिले विशेष राज्य का दर्जा: डा. जोशी