अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किफायती बनाएं पैकेज टूर

आप चाहे गर्मी की छुट्टियों का लुत्फ उठाने के लिए विदेश में सैर-सपाटे का मन बनाएं या मंदी और जेब की हालत को देखते हुए देश में ही किसी हिल स्टेशन पर जने की तैयारी करें इसके लिए अखबारों में बड़े-बड़े विज्ञापन आपको लुभाते हैं। हर विज्ञापन में भारी डिस्काउंट से लेकर सबसे किफायती प्लान देने के दावे किए जते हैं। ऐसे में सही फैसला करना दूभर होता है। तो हमसे जनिए सबसे बेहतर यात्रा का प्रोग्राम जिसमें किसी प्रकार की चूक की गुंजइश न रहे। आपकी यात्रा को सचमुच किफायती, सफल और आनंददायक बनाने के लिए जरूरी तमाम तरह की जनकारी दे रहे हैं राकेश तनेजा

जानकारी हासिल करें 
सबसे पहले आप अपने परिवार के साथ बैठकर उन स्थानों की सूची तैयार करें जहां आप जना चाहते हैं। हो सके तो इंटरनेट, ट्रैवल एजेंट और दोस्तों-रिश्तेदारों से उस जगह की जनकारी हासिल कर लें।

बजट तय करें 
जगह पसंद आने के बाद परिवार से बजट की बात भी लगे हाथ कर ली जए। कितना पैसा किस मद में खर्च किया जएगा। पैकेज टूर लिया जए या फिर उस स्थान पर जकर आगे का प्लान तय किया जएगा, यह सब पहले ही तय कर लें। इस मामले में खास बात यह ध्यान रखें कि उधार लेकर ट्रैवल करने से बचा जए। मंदी का आलम है ऐसे में क्रेडिट कार्ड से फिजूलखर्च करना घातक हो सकता है। कोशिश करें कि क्रेडिट कार्ड से उतना ही खर्च किया जए जितना पैसा आप यात्रा से वापस लौटने पर वापिस कर सकें।

एमरजेंसी फंड जरूर साथ ले जएं 
यात्रा करते समय किसी भी तरह की आकस्मिक जरूरत पड़ने पर खर्च करने के लिए एमरजेंसी फंड की व्यवस्था अलग से करके रखें। मसलन रास्ते में गाड़ी खराब होने पर या विदेश यात्रा में विमान यात्रा के दौरान खराबी होने या विलम्ब की स्थिति में इस फंड का प्रयोग किया ज सकता है।

बुकिंग पहले से कराएं 
टिकट चाहे रेल की हो या बस की या फिर विमान की समय पर बुकिंग करानी चाहिए। हो सके तो विमान यात्रा के लिए एडवांस बुकिंग के फायदे भी हासिल किए ज सकते हैं। कई बार तो एक टिकट पर एक फ्री टिकट की व्यवस्था भी मिल जती है। इस तरह की छोटी-छोटी बचत से अपने ट्रैवल बजट को और बड़ा स्वरूप दिया ज सकता है।

सामान कम से कम उठाएं
विमान यात्रा में टिकट में केवल एक निश्चित मात्रा तक वजन फ्री ले जया ज सकता है। हो सके तो तय मात्रा से कम सामान ले जया जए ताकि वापसी के समय खरीदारी का सामान बढ़ जने पर टिकट के साथ सामान के लिए विशेष बिल कटवाने पर झटका न लगे। जगह तय होने के बाद उस स्थान के मौसम की जनकारी इंटरनेट से हासिल करें ताकि वहां के मौसम के हिसाब से कपड़े और अन्य सामान साथ ले जया जए। वसे यात्रा करते समय कम से कम सामान साथ ले जने की आदत तो हमेशा बनाए रखी जनी चाहिए।

पैकेज टूर की छुपी शर्तें
पैकेज टूर बुक करवाते समय पूरी तरह से जनकारी हासिल कर ली जनी चाहिए कि जो विज्ञापन में लिखा है या दिखाया ज रहा है वह इस पैकेज में मिलेगा या नहीं या फिर उसके लिए कोई हिडन कॉस्ट तो नहीं। कई बार ट्रैवल कंपनियां अपने विज्ञापन में दिखाती कुछ हैं और देती कुछ और ही हैं। हो सके तो अपने पैकेज की पूरी जनकारी लिखित में प्राप्त कर लें ताकि आगे चल कर परेशानी न हो।

विदेश यात्रा के समय तो यह बात खासकर सामने रखनी चाहिए कि कितनी विदेशी मुद्रा की व्यवस्था एजेंट करवा कर देगा, ट्रांसपोर्ट की क्या व्यवस्था होगी, एयरपोर्ट ट्रांसफर का खर्च कौन उठाएगा, पैकेज में सब कुछ शामिल है, की बात में कितना दम है, वीज शुल्क, एयरपोर्ट टैक्स कौन वहन करेगा, साइट सीइंग के लिए यात्रा खर्च, टिकट का खर्च कौन उठाएगा। ये सब छोटी-छोटी बातें हैं जो यात्रा के दौरान आपकी जेब पर डाका डाल सकती हैं। कंपनियां तो विज्ञापन में छोटा सा स्टार डालकर निश्चिंत हो जती हैं कि अन्य शर्ते लागू हैं, पर पैकेज लेने वालों के लिए कई बार यह काफी कठिनाई का कारण बन जती है।

कुछ जरूरी बातें
विदेश यात्रा का पैकेज लेते समय यह याद रखें कि एयरपोर्ट टैक्स के अलावा ट्रांसफर फीस या फिर यात्रा में विलम्ब होने पर ठहरने की व्यवस्था का खर्च कौन उठाएगा। होटल कितनी दूर है, खाना किस तरह का होगा यानी अमेरिकन प्लान (ब्रेकफास्ट, लंच, डिनर), मॉडिफाइड अमेरिकन प्लान (ब्रेकफास्ट के साथ लंच या डिनर) और कांटिनेंटल प्लान (जिसमें सिर्फ ब्रेकफास्ट शामिल होता है)। कैंसिलेंशन, गाइड फीस इत्यादि की भी जनकारी पहले से हासिल कर ली जए। यानी कुल मिलाकर पैकेज की असली कॉस्ट को पता करना आपके लिए निहायत जरूरी है।

बीमा जरूरी 
विदेश यात्रा पर जने के लिए जरूरी है कि आप ट्रैवल इंश्योरेंस प्लान ले लें। ऐसे प्लान एक छोटी राशि पर आपको किसी भी तरह की आकस्मिक स्थिति से निकालने में मदद कर सकते हैं। यात्रा के दौरान बीमार पड़ने, कागजत खोने, उड़ान में विलम्ब होने पर यह बीमा प्लान आपके द्वार पर सर्विस देते हैं।

बच्चों हों साथ तो
पैकेज लेने से पहले यह बात पहले से ही साफ कर लें कि बच्चों के लिए क्या व्यवस्था है क्योंकि कई होटल एक्सट्रा बेड के नाम पर ज्यादा पैसा वसूल लेते हैं। बच्चों की उम्र का खुलासा पहले ही कर दें ताकि बाद में कोई कंफ्यूजन न रहे। अगर आपके साथ छोटे बच्चे हैं तो उनकी जरूरत का सारा सामान साथ रखें। छोटी-मोटी सर्दी-खांसी की दवाई एकाध स्वेटर, चाहे मौसम गर्म क्यों न हो, साथ में रखें क्योंकि हिल स्टेशन पर मौसम कब करवट ले जए पता नहीं चलता।

सावधानियां 
यात्रा के दौरान कई तरह की सावधानियां बरतें। अनजन लोगों से दोस्ती न करें। होटल में कमरों की पूरी तरह से तलाशी लें कि कहीं कमरे, बाथरूम आदि में किसी तरह के कैमरे वगैरह तो नहीं लगे हैं। पूरे परिवार के पास संपर्क सूची होनी चाहिए, बच्चों की जेब में फोन नंबर डाल कर रखें। यानी कुल मिलाकर आप यात्रा पर मुस्कुराते हुए जएं और हंसते हुए लौटें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किफायती बनाएं पैकेज टूर