DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूबे की 40 लाख महिलाओं को बनाया जाएगा साक्षर

सूबे की 40 लाख महिलाओं को साक्षर बनाने की योजना ‘अक्षर आंचल’ 8 सितम्बर को अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर शुरू होगी। इसका लक्ष्य मात्र छह माह में पूरा किया जाना है। यह निर्णय शुक्रवार को क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक, जिला जन शिक्षा पदाधिकारी, डीईओ और डीएसई की साझी बैठक में लिया गया। शत-प्रतिशित लक्ष्य हासिल करने के लिए सभी संबंधित शिक्षा अधिकारियों को अभी से इसकी तैयारियों में लग जाने को कहा गया है।

योजना की मॉनिटरिंग के लिए प्रमंडलीय आयुक्तों और अन्य अधिकारियों को भी कहा गया है।
इस योजना का नारा है-‘नारी के आंचल में अक्षर, बेटी-माता दोनों साक्षर’। इसके लिए 20 महिलाओं के हर एक समूह पर एक शिक्षक नियुक्त होंगे। इस बाबत यहां हुई बैठक में प्राथमिक, माध्यमिक और जन शिक्षा निदेशक मौजूद थे।

बताया गया कि अक्षर आंचल योजना लोकसभा चुनाव से पहले ही शुरू होकर 8 सितम्बर तक खत्म हो जानी थी। मगर इसी बीच लोकसभा चुनावों की घोषणा हो गई और आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण इसे शुरू नहीं किया जा सका। नई योजना होने के कारण इसे मंजूरी के लिए चुनाव आयोग के पास भेजा गया लेकिन आयोग ने इस पर सहमति देने के इंकार कर दिया। यही कारण है कि यह योजना आचार संहिता हटने के बाद शुरू की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:8 सितम्बर से शुरू होगी ‘अक्षर आंचल’ योजना