अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आकर्षक बनाने पर सौ करोड़ खर्च होंगे

 सावन में बाबा भोलेनाथ को जल चढ़ाने के लिए देवघर जाने वाले कांवरियों को इस बार बदला-बदला दृश्य देखने को मिलेगा। कांवरिया पथ के विकास के लिए सभी विभाग मिल-जुल कर काम करेंगे और पर्यटन विभाग समन्वयक की भूमिका में रहेगा। पथ का बदलाव कम से कम होगा और इसे पूरी तरह धार्मिक भावनाओं के अनुकूल रखा जाएगा लेकिन इसे पर्यटकों को आकर्षित करने लायक बनाया जएगा।

इधर राज्य सरकार ने स्वयंसेवी संगठन बोल बम सेवा समिति की ओर से सौंपे गए प्रोजेक्ट पर अपनी सहमति की मुहर लगा दी है। समिति की ओर से मदनजीत कुमार ने बताया कि विकास आयुक्त की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में इस प्रोजेक्ट पर कार्रवाई का निर्णय लिया गया। बैठक में समिति के प्रतिनिधि को भी बुलाया गया था। समिति के अनुसार राज्य सरकार कांवरिया पथ के विकास पर 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी। 35 करोड़ रुपये पहले ही पथ निर्माण विभाग को स्वीकृत किए ज चुके हैं।

सुल्तानगंज में कांवरियों के लिए मेगा रजिस्ट्रेशन कम रिसेप्शन सेंटर बनाया जएगा। असरगंज, रामपुर, जलेबिया मोड़, सूइया पहाड़ और कटोरिया में पर्यटक केन्द्र बनाए जएंगे। कमराई, तारापुर, कुंमरसार, अबरखा, इनरावरन और गोरियारी समेत सात जगहों पर यात्री विश्राम गृह बनाये जाएंगे। मार्ग में 90 यात्री शेड बने होंगे जिनमें पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग-अलग शौचालय के साथ-साथ पेयजल की सुविधा रहेगी। पूरे कांवरिया पथ पर सौर ऊर्जा से प्रकाश की व्यवस्था की जएगी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बदल जाएगा कांवरिया पथ