अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब की हिंसा में 175 वाहन स्वाह

वियना की घटना के बाद पंजाब में हुई हिंसा में 175 वाहनों को जलाया दिया गया। प्रदेश में हिंसा की सबसे ज्यादा घटनाएं दोआबा क्षेत्र में हुईं। पंजाब के गृह विभाग की ओर से तैयार एक रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। वियना में डेरा सचखंड बल्लां के संतों पर हुए हमलों के बाद प्रदेश में 24-25 मई को भड़की हिंसा पर सभी जिलों के उपायुक्तों द्वारा मुहैया कराई गई जानकारियों के आधार पर यह समग्र रिपोर्ट तैयार की गई। इस रिपोर्ट में जारी किए गए आंकड़ों के आधार पर राज्य सरकार को मुआवज राशि के निर्धारण में मदद मिलेगी। हिंसा में रेलवे स्टेशनों, ट्रेनों, नगर निकाय कार्यालयों और सरकारी अस्पतालों की संपत्तियों को नुकसान पहुंचा गया।
खास बात यह है कि  कर्फ्यू  लागू होने और पुलिस बलों की तैनाती होने के बाद भीड़ ने सबसे ज्यादा तोड़फोड़ की बात सामने आई है।
दोआबा क्षेत्र के जालंधर, होशियारपुर, कपूरथला और नवांशहर में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। इन शहरों डेरा सचखंड के सबसे ज्यादा अनुयायी हैं। जालंधर में सबसे ज्यादा 123 सरकारी और निजी वाहनों को भीड़ ने जलाया।

फूंके गए वाहन :
निजी बसें : 32
सरकारी बसें : 33
निजी कार, जीप : 56
सरकारी कार, जीप : 4
निजी ट्रक : 18
सरकारी ट्रक : 1
निजी स्कूटर और मोटरसाइकिल : 26
सरकारी मोटरसाइकिल : 4

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब की हिंसा में 175 वाहन स्वाह