DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क पर उतरे जलजमाव से परेशान लोग

टुकड़ों में बन रही सड़क और जलजमाव से परेशान जवाहरलाल रोड की जनता शुक्रवार को उस समय भड़क गयी जब स्कूल ज रही बच्ची रानी के नाले में डूबने की उन्हें खबर मिली। बच्ची को नाली से निकालने के बाद आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर सरकार व नगर निगम प्रशासन के साथ-साथ विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान दुकानदारों ने भी अपनी-अपनी दुकानें बंद रखी।

सड़क जाम से कल्याणी, मोतीझील, धर्मशाला चौक, इस्लामपुर रोड, दीवान रोड, केदारनाथ रोड, अंडीगोला, सरैयागंज व सूतापट्टी भी दिन भर जाम रहा। इससे पूरा शहर जहां सांसत में रहा वहीं घंटों बाद प्रशासन की नींद खुली। करीब 12 बजे दिन में पूर्वी एसडीओ डॉ. जवाहरलाल सिन्हा व नगर डीएसपी निर्मला कुमारी के नेतृत्व में नगर थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ वहां पहुंचे। उन्हें देखते ही लोगों ने नारेबाजी तेज कर दी। उनके आक्रोश को देखते हुए दोनों अधिकारियों ने डीएम, मेयर व नगर आयुक्त को बुलाने की मांग मान ली।

उधर, आंदोलन की खबर सीएम हाउस पहुंचते ही प्रभारी डीएम व डीडीसी मो. नईम अख्तर आनन-फानन में जमस्थल पर पहुंचे। कुछ ही देर बाद नगर आयुक्त और उपमहापौर भी पहुंचे। अधिकारियों के जत्थे ने जलजमाव में पैदल चलते हुए स्थिति का अवलोकन किया। दुर्गन्ध से दम घुटने पर आधे रास्ते से ही डीएसपी, एसडीओ व डीडीसी बीच रास्ते से ही लौट आये।

उसके बाद आंदोलन में शामिल शिशिर कुमार नीरज, भोला गुप्ता, राजद नेता देवीलाल, जदयू नेता भगवानलाल महतो, जवाहरलाल रोड व्यवसायी संघ के अभय कुमार सिंह, प्रभात कपूर, रमेश मोदी ने उन्हें मांग से संबंधित ज्ञापन सौंपा। डीडीसी ने मांग पर तत्काल कार्रवाई का आश्वासन दिया। तब लोगों ने जाम हटाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नाली में डूबी स्कूली छात्रा