DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मांग के मुकाबले कम आपूर्ति हो रही है बिजली

मेरठ समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बिजली संकट छाया है। इन इलाकों को 10 से 16 घंटे तक की बिजली मिल पा रही है । देहात क्षेत्रों में तो मात्र 6 से 7 घंटे ही बिजली मिल पा रही है। बिजली महकमे के अफसर बिजली संकट के लिए मांग के मुकाबले बिजली कम मिलना बता रहे है।

पश्चिमांचल पावर कारपोरेशन के एमडी नंदलाल कहते हैं कि मांग के अनुरूप बिजली की आपूर्ति कम होना पश्चिमांचल क्षेत्र में बिजली संकट का मुख्य कारण है । पश्चिमांचल क्षेत्र के कंट्रोल रूप से प्राप्त आंकड़े इसकी पुष्टि भी करते हैं ।

मसलन पश्चिमांचल क्षेत्र के मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बागपत, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद आदि 11 शहरों की बिजली की कुल मांग 3500 मेगावाट है । लेकिन आपूर्ति 1900 मेगावाट ही हो पा रही है । बिजली महकमे के अफसरों की मानें तो जब तक प्रदेश में बिजली उत्पादन नही बढे़गा तब तक लोगों को बिजली संकट क्षेलना ही पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजली संकट से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाहाकार