अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निगम में राजभाषा हिन्दी की उपेक्षा न हो

नई दिल्ली। दिल्ली हिन्दी साहित्य सम्मेलन का प्रतिनिधिमंडल हिन्दी की उपेक्षा के विरोध में दिल्ली नगर निगम के उपमहापौर और राजभाषा क्रियान्वयन समिति के अध्यक्ष आजाद सिंह से मिला। साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष एवं दिल्ली के पूर्व महापौर महेश चन्द्र के नेतृत्व में सिंह से मिलने गए प्रतिनिधिमंडल ने उनसे शिकायत की कि निगम के अनेक विभागों में राजभाषा हिन्दी की उपेक्षा हो रही है।

प्रतिनिधिमंडल ने राजभाषा समिति से संबंधित अतिरिक्त आयुक्त आर डी श्रीवास्तव से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा कि खासकर निगम के शिक्षा,चिकित्सा,विज्ञापन और सम्पत्ति कर विभाग के अनेक कंप्यूटरों में हिन्दी का सॉफ्टवेयर नहीं है और न ही हिन्दी में काम करने का प्रशिक्षण दिया जाता है। उन्होंने मांग की कि इस दिशा में अपेक्षित कदम उठाए जाएं और राजभाषा विभाग में रिक्त पड़े अनुवादकों, सहायकों और आशुलिपियों के पदों को तत्काल भरा जाएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निगम में राजभाषा हिन्दी की उपेक्षा न हो