अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी राज ठाकरे को राहत

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों को निरस्त करने से इन्कार कर दिया है। ये मामले ठाकरे के खिलाफ झारखंड सरकार ने उत्तार भारतीयों के खिलाफ कथित भड़काऊ भाषणों पर दर्ज किए हैं।

ठाकरे ने याचिका दायर कर शीर्ष न्यायालय से मांग की थी कि झारखंड में दर्ज इन मामलों को निरस्त कर दिया जाए, क्योंकि इस संबंध में मुंबई पुलिस पहले ही एफआईआर दर्ज कर चुकी है। मुख्य न्यायाधीश के.जी. बालाकृष्णन, पी. सथाशिवम व दीपक वर्मा की पीठ ने इस याचिका को सुनवाई के लिए दाखिल किए जाने से इन्कार करते हुए ठाकरे को फटकार भी लगाई।

अदालत ने कहा कि जब झारखंड से मामले स्थानांतरित करने की उनकी याचिका पहले ही सुनवाई के लिए लंबित है तो एक नई याचिका दायर कर वे न्यायिक व्यवस्था का दुरुपयोग करना चाहते हैं। अदालत के कड़े तेवर देखते हुए ठाकरे के वकील यू.यू. ललित ने याचिका वापस ले ली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी राज ठाकरे को राहत