अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पश्चिमी यूपी के लिये 40 करोड़ का बजट

दिल्ली में अगले साल अक्टूबर में होने जा रहे कामनवेल्थ गेम्स के लिए तैयारियां पश्चिम यूपी में भी शुरू हो गई हैं। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि दिल्ली बोर्डर से लगे राज्य के तीन जिलों को किसी खेल की मेजबानी मिलेगी या नहीं, पर पुलिस के लिए जरूर केंद्र सरकार की तरफ से 40 करोड़ रुपये दिये जा रहे हैं। इस पैसे से 40 से ज्यादा मदों में काम होगा। इनमें बम स्क्वायड से लेकर अत्याधुनिक गाड़ियों तक के प्रपोजल शामिल हैं। लखनऊ बैठक में भी कामनवेल्थ गेम्स के प्रस्तावों पर चर्चा की गई।

दिल्ली में सभी कामनवेल्थ गेम्स कराने और खिलाड़ियों को ठहराने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है, इसीलिए ऐसी जिम्मेदारियां दिल्ली से सटे राज्यों के कुछ जिलों को देने की तैयारी की गई है। इसी क्रम में हरियाणा के गुड़गांव, पश्चिमी यूपी के गाजियाबाद, नोएडा और मेरठ में भी संभावनाएं तलाश की गई। तीनों जिलों को इसलिए चयनित किया गया क्योंकि दिल्ली से यहां तक आने में ज्यादा वक्त भी नहीं लगेगा। मेरठ में ही तीन खेलों के लिए डीपीएस स्कूल और स्पो‌र्ट्स स्टेडियम को देखा गया और मुहर भी लगा दी गयी। इसके चलते यह भी घोषणा की गई कि अगर यहां खेल होंगे तो फिर फोर या फाइव स्टार होटलों की जरूरत भी पड़ेगी। तभी यहां ऐसे होटलों के लिए मंजूरी प्रदान की गयी जिन पर तेजी से काम भी चल रहा है। चूंकि पश्चिमी यूपी के तीन जिलों में कामनवेल्थ गेम्स होने की संभावना है, इसीलिए केंद्र सरकार ने पुलिस व्यवस्था चुस्त बनाने और सड़कों की दशा सुधारने के 40 करोड़ रुपये का बजट भी निर्धारित कर दिया। अब तीनों जिलों के लिए कामनवेल्थ गेम्स को देखते हुए क्या-क्या योजनाएं लागू की जाएंगी, पुलिस को क्या कुछ दिया जाएगा, इसके प्रपोजल बनाकर शासन को भेजे गए हैं। सूत्रों की माने तो इस मुद्दे पर लखनऊ में मुख्यमंत्री की बैठक में भी चर्चा की गई है। फिलहाल तीनों जिलों को मेजबानी देने पर मुहर नहीं लगी है। जबकि दूसरी तरफ हरियाणा बराबर मेजबानी के लिए कोशिशें कर रहा है।

ये सब मिलेगा पुलिस को

कामनवेल्थ गेम्स की मेजबानी के चलते मेरठ, गाजियाबाद और नोएडा की पुलिस को काफी कुछ साजोसामान मिलेगा। तीनों जिलों को पांच पांच बम निरोधक दस्तों के अलावा, बीस-बीस अत्याधुनिक जिप्सियां, वायरलेस सैट, ट्रैफिक पुलिस को अत्याधुनिक उपकरण, सीसी कैमरे, चेकपोस्टों के लिए सामान, बैटरियां और अन्य चालीस से भी ज्यादा मदों में सामान दिया जाएगा। सबसे ज्यादा सुविधाएं नोएडा को मिलेंगी क्योंकि वहीं पर सबसे ज्यादा विदेशी मेहमानों के रुकने की उम्मीद है। इसके साथ ही कामनवेल्थ गेम्स तक सड़कों को भी चौड़ा कर दिया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पश्चिमी यूपी के लिये 40 करोड़ का बजट