DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी दफ्तरों का औचक निरीक्षण,132 मिले गायब

जिलाधिकारी अजय कुमार उपाध्याय के निर्देश पर जिले के सभी मजिस्ट्रेटों ने 49 कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया तो 132 कर्मचारी गायब मिले। इन कर्मचारियों के सर्विस बुक में इंट्री करते हुए आज का वेतन काटने का आदेश जरी किया गया है। साथ ही कार्यालय अध्यक्षों को भी चेतावनी दी गई है कि वे रोजना कर्मचारियों की हाजिरी की जंच करें।समय से दफ्तर न आने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जए।

जिलाधिकारी के निर्देश पर जिले के सभी मजिस्ट्रेटों ने आज जिले के 49 कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया। पूर्वाह्न 10 बजे अचानक मजिस्ट्रेट सरकारी दफ्तरों में पहुंचे और उन्होंने हाजिरी रजिस्टर के साथ ही कर्मचारियों को भी तलब किया। मजिस्ट्रेटों के औचक निरीक्षण से विकास भवन में हड़कंप मच गया। जो कर्मचारी कार्यालय के बाहर घूम रहे थे वे आनन-फानन में अंदर पहुंचे। एडीएमई ने जिला आपूर्ति कार्यालय, बेसिक शिक्षाधिकारी कार्यालय, पशुपालन, चकबंदी, जिला विद्यालय निरीक्षक समेत कई कार्यालयों का निरीक्षण किया। सर्वाधिक 38 कर्मचारी व्यापार कर विभाग में गायब मिले। यहां मुख्य विकास अधिकारी एसके सिंह ने औचक निरीक्षण किया था। निरीक्षण से सेल टैक्स विभाग में हड़कंप की स्थिति रही।

अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) पीके अग्रवाल ने बताया कि सभी गैरहाजिर कर्मचारियों का आज का वेतन काट दिया गया है। साथ ही इनकी सर्विस बुक में भी इंट्री दर्ज की गई है। कार्यालय अध्यक्षों को चेतावनी दी गई है कि वे स्थिति में सुधार लाएं। कर्मचारियों की हाजिरी रोजना चेक करें। ऐसा न करने पर उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जएगी।

उन्होंने बताया कि कार्यालय अध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि विलंब से कार्यालय आने वाले कर्मचारियों का दस्तखत अलग रजिस्टर पर दर्ज कराएं। लगातार तीन दिन तक विलंब से कार्यालय आने पर एक दिन का वेतन काट दिया जए। लगातर देर से कार्यालय आने अथवा मनमाने ढंग से दफ्तर के गायब रहने वाले कर्मचारियों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई की जए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैरहाजिर कर्मियों का वेतन भी काटा गया