DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुफ्त की जमीन पर बनेगा दो करोड़ का स्कूल

दो करोड़ की बजट के बावजूद शिक्षा विभाग मॉडल स्कूलों के निर्माण के लिए मुफ्त की जमीनें खोज रहा है। विभाग को इस जमीन खोजों अभियान में सफलता भी मिल रही है। रजापुर ब्लॉक में बनने वाले मॉडल स्कूल के लिए समरपुर गांव के ग्राम प्रधान ने विभाग को करीब 12 एकड़ जमीन मुफ्त में देने की पेशकश की है। यह जमीन ग्राम सभा की है।


दो करोड़ की बजट से बनने वाले इन स्कूलों का निर्माण सामान्य केन्द्रीय विद्यालयों के तर्ज पर किया जा रहा है। इनमें कम्प्यूटर शिक्षा, खेल-कूद की व्यवस्था, पानी आदि की उचित व्यवस्था के साथ ही अच्छे शिक्षक भी मिलेंगे।
मगर जानने की बात यह है कि क्या दो करोड़ रुपए ऐसे स्कूल के निर्माण के लिए बहुत ज्यादा नहीं हैं। अगर इंफ्रास्ट्रक्चर इंजिनियरों की माने तो मुफ्त में मिली जमीन पर इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में ज्यादा से ज्यादा एक करोड़ रुपए लगेंगे। अगर जमीन खरीदनी होती तो बजट बिल्कुल ठीक था। ऐसे में यह बात समझ में नहीं आती है कि विभाग ने इस प्रोजेक्ट के लिए दो करोड़ का बजट क्यों बनाया है।


शासन की पहल पर जिले में रजापुर, धौलाना और गढ़ में मॉडल स्कूल बनने हैं। छठी से 12वीं तक के छात्रों के लिए बनने वाला यह को-एड स्कूल पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप में बनेगा।

डीआईओएस रविन्द्र सिंह का कहना है कि हमने अपने अनुमान से दो करोड़ का बजट भेजा है। यह बजट किसी प्रोफेशनल ने नहीं तैयार किया है। दूसरा इन विद्यालयों के लिए हम मुफ्त की जमीन खोज रहे हैं, लेकिन अगर जमीन नहीं मिलती है तो हमें खरीदनी पड़ेगी। जमीन उपलब्धता की संभावनाओं को देखते हुए ही हमने बजट इतना रखा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुफ्त की जमीन पर बनेगा दो करोड़ का स्कूल