अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बोरिंग रोड फ्लाईओवर के लिए प्राधिकृत समिति, कैबिनेट और प्रशासनिक स्वीकृति बाकी

राजधानी के पहले फ्लाई ओवर के लिए अभी और इन्तजार करना होगा। नीतीश सरकार ने सत्ता संभालते ही पटना में सात फ्लाई ओवर बनाने की योजना बनायी थी। साढ़े तीन साल बीत गये पर एक भी फ्लाई ओवर का जमीनी निर्माण शुरू नहीं हो पाया। फिलहाल सरकार के समक्ष दो फ्लाई ओवर बनाने का प्रस्ताव विचाराधीन है।

पहला बोरिंग रोड और दूसरा आईजीआईएमएस-आशियाना मोड़ फ्लाईओवर। दोनों का निर्माण फाइलों में चल रहा है। काफी जद्दोजहद के  बाद बोरिंग रोड के निर्माण प्रक्रिया थोड़ी आगे बढ़ी है। पर अभी कई तकनीकी प्रक्रियाएं पूरी करनी है। प्राधिकृत समिति से स्वीकृति लेनी है। कैबिनेट से सहमति लेनी है। और तब उसकी प्रशासनिक स्वीकृति मिलनी है। वहीं आईजीआईएमएस-आशियाना मोड़ फ्लाईओवर के निर्माण मामले की स्पीड थोड़ी बढ़ी है। विश्वेश्वरैया भवन (पथ निर्माण विभाग का मुख्यालय) के गलियारों में इसके निर्माण की सुगबुगाहट सुना जा सकती है।

पूछने पर बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के चेयरमैन प्रत्यय अमृत ने कहा कि दोनों फ्लाईओवर के मामले विचाराधीन है। प्रशासनिक स्वीकृति मिलने के बाद ही फ्लाईओवर निर्माण के संबंध में कुछ कहा जा सकता है। दूसरी तरफ पथ निर्माण मंत्री डा. प्रेम कुमार ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि पटना में भी देश की राजधानी दिल्ली की तरह फ्लाईओवर का निर्माण हो ताकि लोगों को जाम से निजात मिले।

सात जगहों डाकबंगला चौराहा से लेकर एक्जीबिशन रोड चौक, आशियाना मोड़, राजाबाजार, बोरिंग रोड एवं बोरिंग केनाल रोड चौराहा, कंकड़बाग कॉलोनी मोड़, राजेन्द्रनगर रोड नम्बर-2 एवं हड़ताली मोड़ के समीप फ्लाईओवर निर्माण की योजना बनायी गई थी।

मुम्बई की भोवी कंसल्टेन्ट एवं दिल्ली की ट्रांस्टिक शेषाद्रि एजेंसी ने इनका डीपीआर भी बनाया। योजना के तहत सभी सातोंफ्लाईओवर का एक पैकेज बनाकर एक ही एजेंसी को निर्माण कार्य सौंपने का निर्णय था। इनके टेंडर में कोई अड़चन नहीं आये, इसके लिए कंसल्टेंटों की नियुक्ति की योजना थी। पर कई तकनीकी अड़चन आने के कारण फिलहाल दो ही फ्लाई ओवर बनाने की कार्रवाई जारी है।

बोरिंग रोड फ्लाईओवर के प्रस्ताव को प्राधिकृत समिति में भेजा जा रहा है। उसके बाद कैबिनेट की स्वीकृति लेकर प्रशासनिक स्वीकृति दी जाएगी। डेढ़ किमी. के बोरिंग रोड फ्लाईओवर के निर्माण पर 111 करोड़ और दो किमी. के  आईजीआईएमएस-आशियाना मोड़ फ्लाईओवर के निर्माण पर 121 करोड़ रुपए खर्च करने की योजना है।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:. . अभी और करना होगा इन्तजार