अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आदेशों की अनदेखी निजी स्कूल वसूल रहे एरियर

जिला प्रशासन के आदेशों को दरकिनार कर शहर के निजी स्कूल एरियर व 25 प्रतिशत से ज्यादा फीस वसूलने लगे हैं। मामले को लेकर ग्रेटर नोएडा छात्र अभिभावक एसोसिएशन के सदस्य एडीएम प्रशासन से मिले । आदेशों का उल्लंघन करने पर निजी स्कूलों की लीज डीड व एनओसी निरस्त करने की मांग की ।

एडीएम प्रशासन ने यह कहकर हाथ खड़े कर दिए कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है साथ ही शासन ने भी आयोग गठित कर दिया है इसलिए जिला प्रशासन अब इस मामले में कुछ भी नहीं कर सकता । छात्र अभिभावक एसोसिएशन ने दुबारा से स्कूलों में ताले डाले जाने का ऐलान किया है । ग्रेटर नोएडा छात्र अभिभावक एसोसिएशन के अध्यक्ष सीपी गौतम के नेतृत्व में दजर्नों लोग कलेक्ट्रेट पहुंचे। उन्होंने एडीएम प्रशासन ओपी आर्या को ज्ञापन सौपा जिसमें प्राइवेट स्कूलों की लीज डीड एवं एनओसी निरस्त करने की मांग की। उन्होंने हवाला देते हुए  बताया कि जिला प्रशासन ने 6,18व 28 अप्रैल को सभी निजी स्कूलों को आदेश दिए थे कि कोई भी स्कूल 25 प्रतिशत से अधिक फीस वृद्धि नहीं करेगा। संयुक्त निदेशक शिक्षा मेरठ मंडल ने भी 16 अप्रैल को आदेश दिए थे कि मनमानी ढंग से स्कूल फीस वृद्धि नहीं करेगे ।

यदि स्कूल शासन आदेश का पालन नही करते हैं तो उन्हें चिन्हित कर लीज डीड व एनओसी निरस्त की जएगी। एसोसिएशन ने एडीएम को बताया कि डीपीएस ग्रेटर नोएडा द्वारा अभिभावकों को फोन से धमकाकर बढ़ी हुई फीस व एरियर वसूला जा रहा है। एरियर के रुप में 2250 रुपए व लेट फीस के लिए पांच सौ रूपए वसूले जा रहें हैं। समरविले  स्कूल ने भी शिक्षण शुल्क 16 सौ  से बढ़ाकर 2 हजार रूपए कर दिया है साथ ही 250 रूपए विकास शुल्क 50 स्टेशनरी चार्ज के रूप में वसूले जा रहें है । एडीएम से मिलने वालों में एसोसिएशन के संरक्षक सतीश चंद गुंप्ता, सीपी गौतम, गजेंद्र विधूडी, उमेंश गौतम,शेर सिंह, राजकुमार नागर, सुभाष सिंह आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आदेशों की अनदेखी निजी स्कूल वसूल रहे एरियर