अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक करोड़ से अधिक की नकदी और निवेश से जुड़े दस्तावेज मिले

आयकर विभाग ने गुरुवार को बिहार के तीन बड़े कोचिंग संस्थानों के पटना, दरभंगा और देहरादून के करीब 20 ठिकानों पर छापेमारी कर करोड़ों की चल-अचल संपत्ति का खुलासा किया है और उससे जुड़े दस्तावेज जब्त किए हैं। ये छापेमारी गुरुकुल ट्यूटोरियल तथा उससे जुड़े लुसेंट सीनियर सेकेंड्री स्कूल, के.सिंह केमिस्ट्री क्लासेज और परमार कोचिंग क्लासेज पर की गयी है।

तीनों संस्थान मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षा के लिए स्टूडेंट्स को कोचिंग देते हैं। छापेमारी के दौरान एक करोड़ से अधिक नकद, करोड़ों की चल-अचल संपत्ति, कई लॉकर और बैंक खातों का भी पता चला है जिसे सील कर दिया गया है। पटना में पहली बार आयकर ने कोचिंग संस्थानों पर छापेमारी की है। खास बात यह है कि हाल ही में आईआईटी का रिजल्ट आया है और इन कोचिंग संस्थानों ने अपने यहां कोचिंग कर रहे कई स्टूडेंट्स के सफल होने की घोषणा भी की थी। आयकर विभाग के निदेशक (जांच)बिहार व झरखण्ड एसडी झा ने पूछने पर छापेमारी की पुष्टि की है, हालांकि ब्योरा देने से इनकार किया।

आयकर सूत्रों के अनुसार भूपेश कुमार के राजेन्द्रनगर रोड नंबर-13 बी स्थित संस्थान गुरुकुल ट्यूटोरिल, लुसेंट सिनियर सेकेंड्री स्कूल के अलावा राजेन्द्र नगर स्थित घर और दरभंगा स्थित ठिकाने पर भी छापेमारी की है। पटना में उनके घर से 7 लाख रुपए नकद और 15 एटीम कार्ड मिले हैं। एक बैंक खाते में करीब 60 लाख रुपए नकद जमा होने की बात कही जा रही है। साथ ही भूपेश से जुड़े विकास राही के संस्थान राही कंपटीशन हाऊस, कदमकुआं स्थित संस्थान और लोहानीपुर स्थित घर पर भी छापेमारी की गयी। आयकर की टीम को राही के घर से एक करोड़ रुपए से अधिक नकद मिले हैं। इसके अलावा पटना में 4 फ्लैट होने के भी दस्तावेज हाथ लगे हैं।

भूपेश के देहरादून स्थित एक संस्थान पर भी छापेमारी की गयी है। आयकर सूत्रों के अनुसार देहरादून में भूपेश का एक बंगला भी है जिसके बारे में यह कहा जा रहा है कि उसने वर्ष 2002 में 20 लाख में खरीदी थी। देहरादून में ही एक इंजीनियरिंग कॉलेज भी खोलने की योजना का पता चला है। खास बात यह भी सामने आ रही है कि गुरुकुल ट्यूटोरियल का सालाना रसीद करीब 1 करोड़ का है लेकिन संस्थान के नाम से टैक्स जमा नहीं किया जा रहा था। वहीं के.सिंह(कन्हैया सिंह) के नया टोला स्थित संस्थान केमिस्ट्री क्लासेज, कंकड़बाग केन्द्रीय विद्यालय के सामने स्थित संस्थान,पूर्वी बोरिंग कैनाल रोड स्थित संस्थान और राजेन्द्रनगर स्थित आवास पर छापा मारा गया। वहां से 12 बैंक खातों और आशियानानगर तथा बोरिंग रोड में संपत्ति से जुड़े दस्तावेज मिले हैं।

आयकर सूत्रों के अनुसार हाल ही में नया टोला में के.सिंह ने विजन टॉवर भी खरीदा है जिसकी अनुमानित लागत करीब 50 लाख रुपए बतायी जा रही है। परमार कोचिंग क्लासेज के अनिल परमार के कंकड़बाग, एस.के.पुरी और बोरिंग रोड स्थित संस्थानों, मुन्नाचक स्थित सिताबदियरा हाऊस और पटना-गया रोड पर सम्पतचक स्थित मिनरल वाटर के बॉटलिंग प्लांट इंडो एशिया मिनरल वाटर एण्ड एलॉयज प्रोड्क्ट पर छापेमारी की गयी। यह कंपनी मिनरल वाटर और सोडा वाटर बनाती है। छापेमारी के दौरान घर से साढ़े सात लाख रुपए नकद और 15 बैंक खातों का पता चला है।

आयकर सूत्रों के अनुसार इन संस्थानों द्वारा कोचिंग के लिए स्टूडेंट्स से फिजिक्स, केमेट्री और गणित के लिए अलग-अलग पैसे लिए जाते हैं। दस्तावेजों की छानबीन में यह बात भी सामने आयी है कि विद्यार्थियों से लिए गए पैसे को काफी कम करके दिखाया जा रहा था। मसलन एक विद्यार्थी से तीन विषयों के लिए 15 हजार रुपए लिए जाते हैं लेकिन दस्तावेजों में उसे तीन हजार रुपए ही दिखाया जाता है। आयकर विभाग कोचिंग संचालकों के बैंक खातों को खंगाल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीन चर्चित कोचिंग संस्थानों पर आयकर का छापा