DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विद्वत परिषद में दस नए चेहरे शामिल

बीएचयू की विद्वत परिषद में दस नए चेहरे शामिल किए गए हैं। नए सदस्यों में चार कुलपति व दो निदेशकों के साथ प्रख्यात नृत्यांगना गीता चन्द्रन भी शामिल हैं।

एकेडमिक काउंसिल में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजन हष्रे, राजर्षि टण्डन मुक्त विश्वविद्यालय (इलाहाबाद) के कुलपति प्रो. नागेश्वर राव, राममनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय (लखनऊ), प्रो. बलराज चौहान व इंडियन स्कूल ऑफ माइन्स यूनिवर्सिटी (धनबाद) के कुलपति प्रो. टी. कुमार शामिल हैं।

इसके अलावा केन्द्रीय संस्कृत संस्थान (जनकपुरी, दिल्ली) के निदेशक प्रो. राधा वल्लभ त्रिपाठी और सेंटर फॉर सेलुलर एण्ड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (हैदराबाद) के निदेशक प्रो. लालजी सिंह को भी नामित किया गया है। समुद्रीय मत्स्य अनुसंधान संस्थान (मुम्बई) के प्रिंसिपल साइंटिस्ट प्रो. विरेन्द्र वीर सिंह, कानपुर मेडिकल कालेज में हड्डी रोग विभाग के अध्यक्ष प्रो. जेके सेंगर और बड़ौदा विश्वविद्यालय (गुजरात) के भूतपूर्व प्रोफेसर एमएस यादव भी परिषद के सदस्य नामित किए गए हैं।

मशहूर नृत्यांगना गीता चन्द्रन भी काउंसिल की सदस्य होंगी। सभी सदस्यों का कार्यकाल तीन वर्ष होगा। इस संबंध में 15 मई को एक नोटिफिकेशन जरी किया गया है।

बीएचयू की एकेडमिक काउंसिल की बैठक आगामी 4 जून को होनी है जिसमें विभिन्न विभागों व संकायों के पाठच्यक्रम संशोधन के साथ ही कई अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा होने की संभावना है। बैठक में सभी संस्थानों के निदेशक, संकायों के प्रमुख व विभागों के अध्यक्ष के साथ ही वरिष्ठतम प्रोफेसर, रीडर व लेक्चरर भाग लेंगे। आमंत्रित सदस्य के रूप में एमेरिटस प्रोफेसर बैठक में भाग ले सकते हैं। हालांकि एकेडमिक काउंसिल की कार्रवाई में सीमित लोगों को शामिल किए जने को लेकर विश्वविद्यालय में कई तरह की चर्चाएं हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विद्वत परिषद में दस नए चेहरे शामिल