DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब लें होम लोन

पिछले कुछ महीनों में ब्याज दरों में कटौती हुई है जिसकी वजह से होम लोन पहले की तुलना में सस्ता हुआ है। वहीं ग्राहकों को आकíषत करने के लिए बिल्डर कई आकर्षक योजनाएं दे रहे हैं। इसमें कोई शक नहीं कि ये खबरें घर खरीदने के बारे में गंभीरता से विचार कर रहे लोगों के लिए खुश करने वाली हैं, लेकिन ये भी वाजिब है कि लोन लेने के बारे में फैसला करना कोई आसान काम नहीं। ब्याज दरों के अलावा लोन लेते वक्त कुछ बातों जसे फिक्स्ड और फ्लोटिंग रेट, प्रीपेमेंट शुल्क और स्विच करने की स्थिति में लगने वाले चार्ज के बारे में जनकारी होनी चाहिए।

फिक्स्ड और फ्लोटिंग रेट : लोन लेने वाले व्यक्ित को पहले यह फैसला करना चाहिए कि उसे लोन फिक्स्ड दर पर चाहिए या फ्लोटिंग रेट पर। रियल इस्टेट में बूम के दौरान ज्यादातर लोगों ने फ्लोटिंग रेट पर लोन लिए थे। आपको फिक्स्ड रेट पर लोन लेना है कि फ्लोटिंग रेट पर, यह आपकी रिस्क लेने की क्षमता पर निर्भर करता है। सामान्यत: फिक्स्ड रेट पर लोन, फ्लोटिंग रेट पर मिलने वाले लोन की तुलना में एक-दो प्रतिशत महंगा होता है।

हालांकि फिक्स्ड रेट पर लोन महंगा होता है, क्योंकि इससे आप दरों में होने वाले उतार-चढ़ाव से बच जते हैं। आपको अपनी अन्य आíथक जरूरतों के बारे में फैसला करने में आसानी होती है। वर्तमान में ब्याज दर गिर रही है। यह बता पाना मुश्किल है कि आने वाले समय में यह कितना और गिरेगी।

अगर वर्तमान में आप फिक्स्ड रेट पर लोन लेते हैं और आगे होम लोन की दर और गिरने पर आपको ऐसा लगता है कि फ्लोटिंग रेट पर लोन लेना चाहिए। गिरती दर का फायदा उठाने के लिए आपको फ्लोटिंग रेट के लिए स्विच करना होगा। इसलिए आप इस बात के बारे में पहले से तफ्तीश कर लें कि स्विच करने के लिए आपको कितना शुल्क अदा करना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जब लें होम लोन