अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जनता ने नकार दिया मायावती सरकार को : सपा

समाजवादी पार्टी ने आरोप लगाया  है कि भदोही विधान सभा के उपचुनाव  के बाद लोकसभा चुनावों में भी करारी शिकस्त खाने के बाद मुख्यमंत्री मायावती अब गलत आँकड़ों का भ्रमजाल फैलाकर प्रदेशवासियों को भ्रमित करने की कोशिश कर रही हैं। जबकि सचाई यह है कि बहुजन समाज पार्टी लोकसभा चुनावों में केवल100 विधान सभा सीटों पर सिमट कर अपना बहुमत खो चुकी है। यूपी की जनता ने मायावती  सरकार को नकार दिया  है।

सपा प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि बसपा की शर्मनाक हार पर पर्दा डालने के लिए मुख्यमंत्री अपनी पार्टी को देश की तीसरे नम्बर की पार्टी बता रही हैं। सच तो यह है कि लोकसभा के चुनावों में बसपा 303 विधान सभा क्षेत्रों में पीछे रही है। जिन 20 लोकसभा सीटों पर बसपा को जीत मिली उसमें भी पंचम तल के हथकंडों की भूमिका ज्यादा है।

बसपा के तमाम गढ़ ढह गए हैं। सुरक्षित सीटों में उसे केवल 2 मिली हैं। वहीं सपा को बसपा के मुकाबले यूपी में ज्यादा जन समर्थन मिला है। वह सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है। उसे बसपा से ज्यादा विधानसभा क्षेत्रों पर बढ़त मिली है और उसके 23 सांसद जीते हैं।

लोकसभा में वह तीसरे नम्बर की पार्टी है। इसके बावजूद मुख्यमंत्री प्रशासन को पार्टी का हिस्सा बनाने पर तुली हैं। इससे लोकतंत्र कलंकित हो रहा है। उन्हें जनादेश मानकर खुद हट जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जनता ने नकार दिया मायावती सरकार को : सपा