DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज भी मनमोहन-सोनिया की माथापच्ची

आज भी मनमोहन-सोनिया की माथापच्ची

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तथा संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष सोनिया गांधी में बुधवार को भी केंद्रीय मंत्रिपरिषद के विस्तार को लेकर लंबी मंत्रणा हुई। गुरुवार को होने वाले इस विस्तार में करीब 55 मंत्रियों को शपथ दिलाए जाने की संभावना है।

इस विस्तार में सहयोगी दलों के अलावा कांग्रेस के करीब 30 सदस्यों को मंत्रिपद मिलने की संभावना है। पार्टी नेतृत्व को अपने लोगों को साधने तथा विभिन्न क्षेत्रों, राज्यों और समूहों के बीच संतुलन कायम करने में भारी माथापच्ची करनी पड़ रही है। प्रधानमंत्री निवास पर डॉ. सिंह और सोनिया गांधी के बीच मैराथन बैठक में संभावित मंत्रियों के नामों और उनके विभागों तथा उनसे जुड़े विभिन्न पहलुओं पर गहन मंत्रणा हुई।

गत शुक्रवार को डॉ. सिंह के नेतृत्व में 20 सदस्यीय मंत्रिमंडल के सत्तारुढ़ होने के बाद से प्रधानमंत्री और सोनिया के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है। लोकसभा चुनाव में लंबे अरसे के बाद कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन किया है और वह 200 से अधिक सीटें जीतने में सफल हुई है, इससे पार्टी के अंदर नेताओं में मंत्री बनने की होड़ लगी है। मंत्री पद को लेकर पार्टी में खींचतान भी शुरू हो गई है।

इस बार काफी संख्या में युवा नेता चुनाव जीत कर आए हैं, इससे पार्टी नेतृत्व पर मंत्रिपरिषद में उन्हें समुचित स्थान देने का दवाब है। इसके अलावा पुराने नेताओं के अनुभव का भी पार्टी लाभ उठाना चाहती है। ऐसे में नेतृत्व को इन दोनों के बीच संतुलन साधने पर विशेष ध्यान देना पड़ रहा है।

इस बार के चुनाव में उत्तर प्रदेश, आंध्रप्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में पार्टी का प्रदर्शन शानदार रहा है। ऐसे में केंद्रीय मंत्रिपरिषद में इन राज्यों का प्रतिनिधित्व बढ़ना लाजिमी है। पार्टी में सभी क्षेत्रों और राज्यों को समुचित प्रतिनिधित्व देने की माथापच्ची चल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आज भी मनमोहन-सोनिया की माथापच्ची