अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नकली दवा फैक्टरी का भंडाफोड़, वेस्ट यूपी में होती थी दवाएं

गाजियाबाद। शहर के बीचोबीच एसओजी ने छापा मार नकली दवा फैक्टरी का भंडाफोड़ करने में कामयाबी पाई है। टीम ने कई नामचीन दवा कंपनियों के नाम से तैयार की गई नकली दवाओं का जखीरा पकड़ा है। इस सिलसिले में चार धंधेबाजों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि इस गोरखधंधे को सरगना फरार है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है।

पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन गु्प को सूचना मिली थी कि नंदग्राम के एफ ब्लाक के मकान नंबर 207 में नकली दवाएं तैयार हो रही हैं। सटीक सूचना पर टीम ने पुलिस के साथ मिलकर वहां छापा मारा। इस कार्रवाई में एसओजी ने छापे के दौरान विभिन्न नामी कंपनियों कोरेक्टस,विक्स वेपोरेप,ग्लाइकोडीन,डाबर हनी सीरप जैसी तमाम नकली दवाइयां बरामद हुई।

छानबीन में पुलिस को पता लगा कि नोएडा के रहने वाले विनोद भारद्वाज ने एक व्यक्ति से मकान किराए पर ने रखा था। उसने मकान में दवा बनाने की नकली फैक्टरी शुरु कर दी। छापे में वहां से बड़ी संख्या में मशहूर दवा कंपनियों के नकली स्टिकर भी बरामद हुए। मुकेश,लालभाई,मजबूर व रुदल गिरफ्तार कर लिया।

सीओ ऑपरेशन राजपाल सिंह ने बताया कि नकली दवाओं के इस धंधे का सरगना विनोद भारद्वाज है।इसमें कुछ और लोग भी शामिल हैं। उन सभी की तलाश जारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नकली दवा फैक्टरी का भंडाफोड़