DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनएसजी कमांडो को अब मिलेंगे अब सुरक्षा कमांडो

नई दिल्ली। ग्रीक राजा मिडास की कहानी आपने सुनी ही होगी। मिडास जिस चीज को छू लेता था, वह सोने में बदल जाती थी। ऐसी क्षमता वाले एक काल्पनिक पत्थर को हम पारस के नाम से भी जानते हैं जो लोहे को सोने में बदल सकता है। लेकिन राजनीति में भी एक पारस हुआ है जिसके संपर्क में आते ही रसोइया, पायलट, कमांडो आदि एम.पी. में बदलते रहे हैं। जी हां, उस राजनीति के उस पारस का नाम है राजीव गांधी। राजीव के संपर्क में आने वाला लगभग हर व्यक्ति नेता बन गया। इस बार भी चुनावों में ऐसा ही चमत्कार हुआ।

किसी समय उनका सुरक्षा गार्ड रहा एनएसजी कमांडो कमल किशोर इस बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और बहराइच से सांसद चुन लिया गया। बसपा उम्मीदवार लालमणि प्रसाद को कमल किशोर ने करीब 50 हजार वोट से पराजित किया। विधि का खेल देखिए कि जो कभी दूसरे वीआईपी को सुरक्षा देता था आज वह खुद वीआईपी बन गया! ‘हिन्दुस्तान’ से बातचीत में उन्होंने बताया कि वह 1987 में नेशनल सिक्यूरिटी गार्ड (एनएसजी) कमांडो बने और 1991 तक राजीव गांधी का साया बने रहे।

राजीव गांधी के बारे में कमल किशोर का कहना है कि वह मृदुभाषी तो थे ही, तमाम व्यस्तताओं के बीच भी वह अपने सुरक्षा कर्मियों के खाने-पीने का खयाल रखते और किसी को कोई परेशानी होती तो उसे दूर करने की कोशिश करते। कमांडो हो कर राजनीति में आने की वजह पूछने पर कमल किशोर ने बताया कि उनकी पत्नी पूनम किशोर सामाजिक कार्य करती थीं। वह चाहते थे कि उनकी पत्नी राजनीति में आए। सोनिया गांधी के निवास दस जनपथ उनका लगातार आना-जाना रहता था। 1999 में नौकरी छोड़ दी और खुद ही राजनीति में कूद गए।

इस बार हुए चुनावों में कमल किशोर को बहराइच से टिकट मिला। यहां से उनके जीतने की किसी को उम्मीद नहीं थी और पार्टी का कोई भी बड़ा नेता चुनाव प्रचार के लिए भी नहीं गया। इसके बावजूद उनकी जीत हो गई और इसका पूरा श्रेय वह राजीव गांधी को देते हैं।

उनका कहना है कि पूरे चुनाव के दौरान राजीव जी की मौजूदगी का एहसास होता रहा। उनका साया हमेशा साथ था। चुनाव के दौरान कमांडो ट्रेनिंग भी काम में आई। वह सुबस सात बजे से रात दो बजे तक खुली जीप में लोगों से संपर्क साधते रहते थे। लोग भी उन्हें ‘कमांडो साहब’ के नाम से जानते थे। साथ ही कांग्रेस की अगुवाई वाली संप्रग सरकार की नरेगा और कर्ज माफी जैसी योजनाओं की सफलता से भी जीत में मदद मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सांसद बना एनएसजी कमांडो