अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फरीदाबाद के रास्ते नेपाल जाते थे चोरी के वाहन

फरीदाबाद। दिल्ली और आसपास से चुराए गए लग्जरी वाहनों के लिए फरीदाबाद 'बाईपास' था। वाहन उड़ाए जाने के बाद माहौल शांत होने तक इन्हें कुछ समय के लिए यहां रखा जाता था। उसके बाद मथुरा, आगरा के रास्ते असम और नेपाल के लिए रवाना कर दिया जात था। चोरीशुदा वाहनो को गंतव्य तक पहुंचाने का काम ओमप्रकाश का था। इस बात का खुलासा गिरफ्तार अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह से पूछताछ में हुआ है।
 
दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार गिरोह का एक सदस्य ओमप्रकाश फरीदाबाद से सटे दिल्ली के हरिनगर पार्ट दो में रहता है। इसका काम चोरी के वाहनों को फरीदाबाद से मथुरा, आगरा वायाकानपुर तक पहुंचाना होता है। चूंकि ओमप्रकाश फरीदाबाद के सभी रास्तों से वाकिफ है।

चोरी छिपे गिरोह चुराए गए वाहनों को ट्रक में लादकर गंतव्य तक पहुंचा देते थे। दिल्ली पुलिस ने ऑपरेशन को अंजाम देने से पहले गुवाहटी में एक महीने रहकर गिरोह की सारी हरकतों पर नजर रखी। मामले की जांच कर रहे दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर भगवती प्रसाद ने बताया कि बदरपुर में रहने वाला ओमप्रकाश की फरीदाबाद के रास्ते चुराए वाहनों को गंतव्य तक पहुंचाने में अहम भूमिका थी। पूछताछ के दौरान फरीदाबाद से इनके संबंधों का भी खुलासा हो सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फरीदाबाद के रास्ते नेपाल जाते थे चोरी के वाहन