अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाराणसी में योग सिखाएंगे बाबा रामदेव

बाबा रामदेव के योग विज्ञान शिविर का आयोजन इस बार कड़ी सुरक्षा के बीच 11 से 16 अप्रैल तक वाराणसी के डी.एल.डब्ल्यू. स्पोर्ट स्टेडियम में होगा।

इस आयोजन को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए पुलिस प्रशासन, रेलवे सुरक्षा बल डी. एल. डब्ल्यू के अलावा भारी संख्या में प्राइवेट सुरक्षा गार्डों की भी मदद ली जाएगी। आयोजन स्थल को चारों तरफ से बिल्कुल सील रखा जाएगा। भारी संख्या में आने वाले भक्तों और बाबा रामदेव की सुरक्षा को देखते हुए इस बार सुरक्षा के खास इंतजाम किए जा रहे हैं। इस शिविर में भाग लेने वालों की गहन चेकिंग की जाएगी। शिविर के आयोजन के समय चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बलों को तैनात किया जाएगा।

21वीं सदी का यह दौर बाजार वाद का दौर है तो ऐसे में हर चीज बिकाऊ होगी ही। फिर चाहे वो हमारे ऋषि मुनियों की तपस्या से निकला योग विज्ञान ही क्यों न हो.... अपने योग विज्ञान से बाबा रामदेव अब वाराणसी के लोगों को दीक्षित करने आ रहे हैं। वाराणसी के डी.एल.डब्ल्यू मैदान में आयोजित शिविर में 17,000 लोगों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है। इस शिविर में प्रवेश के लिए 500, 1100 एवं 2100 शुल्क के रूप में भाग लेने वालों को देना होगा। बदले में बाबा रामदेव मोटापे से त्रस्त लोगों का वजन 6 किलो तक घटने का संकल्प लेंगे। यह जानकारी मारवाड़ी युवक संघ लक्सा में एक पत्रकार वार्ता के माध्यम से पत्रकारों को दी गई।

हालांकि पिछले शिविरों में भाग लेने वालों का कहना है कि ये सब बेकार की बातें है। एक शिविर में भाग लेने वाले वाराणसी के श्याम दूबे और ललित अग्रवाल बताते हैं कि शिविरों में बाबा रामदेव मोटापा घटाने का क्लू तो बता सकते हैं लेकिन 6 किलो वजन घटने का दावा कोरी बकवास है।

शिविर में पतंजलि योगपीठ की दवाओं के संदर्भ में लोगों को विशेष जानकारी दी जाएगी। लेकिन दवाओं की बिक्री के लिए भक्तों को मोटी रकम चुकानी होगी। इसके अलावा समस्याओं का नि:शुल्क समाधान, बच्चों को योग का ज्ञान कराना आदि भी बाबा के संकल्पों में शामिल है। आयोजकों का कहना है कि इस शिविर से की गई आय का उपयोग योगपीठ के विस्तार के लिए किया जाएगा, जो आय कर की धारा 60 जी के तहत आयकर से मुक्त होगी।

बाबा रामदेव का आगमन 10 अप्रैल को वाराणसी में होगा और 11 अप्रैल को शंखनाद से शिविर का शुभारंभ करेंगे। इस शिविर में पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा. मुरलीमनोहर जोशी के आने का आश्वासन तो मिला है किंतु कोई भी लिखित स्वीकृति नहीं है। 14 अप्रैल को एक शाम शहीदों के नाम दशाश्वमेघ घाट पर गंगा सेवा निधि के तत्वावधान में सम्पन्न होगी जिसमें स्वयं बाबा रामदेव के भाग लेने की संभावना है। प्रतिदिन शिविर में सुबह 9 बजे से एक बजे एवं दोपहर दो बजे से छह बजे तक नि:शुल्क परामर्श देने की भी व्यवस्था की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वाराणसी में योग सिखाएंगे बाबा रामदेव