DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस की गुटबाजी तेज, हार की समीक्षा की मांग

लोकसभा चुनाव में मिली करारी मात के बाद से स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं की गुटबाजी चरम पर है। हार के कारणों की समीक्षा के अलावा पार्टी विरोधी बयानबाजी करने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग भी जोर पकड़ रही है।

मेरठ सीट पर गिरा मत प्रतिशत हाईकमान के लिए चिंता की वजह बना है। पर्यवेक्षक व प्रभारियों की रिपोर्ट में लोस चुनाव में हुई पार्टी की फजीहत के लिए स्थानीय कांग्रेस जनों की गुटबाजी को दोषी करार दिया गया है। बुढ़ाना गेट स्थित कार्यालय पर एक खेमे के कांग्रेसियों की बैठक मतन सिंह ढ़ेडा की अध्यक्षता व शाहिद सैफी के संचालन में हुई। जिसमें वक्ताओं ने लोस चुनाव में प्रत्याशी के कमजोर प्रदर्शन पर चर्चा करते हुए पार्टी के बेहतर माहौल में भी कम वोट मिलने के कारणों की जांच कराने की मांग की। शहर सेवादल अध्यक्ष योगेश त्यागी ने एक एआइसीसी सदस्य व पीसीसी सदस्य पर पार्टी को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए दोनों की सदस्यता समाप्त करने की मांग की।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस की गुटबाजी तेज, हार की समीक्षा की मांग