अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुआवजे को लेकर हुई बैठक बेनतीजा

इस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेसवे के लिए ली ज रही जमीन का मुआवजा तय करने के लिए कलेक्ट्रेट में एडीएम व किसानों के बीच हुई वार्ता बेनतीज रही।

एडीएम प्रशासन ओपी आर्य ने किसानों से कहा कि सर्किल रेट पर नहीं बल्कि आठ सौ रुपए मुआवजा देने के लिए प्रशासन तैयार है। किसानों ने उनके इस फैसले को नकार दिया ।  किसानों की अगली पंचायत 31 मई को मायचा गांव में करने का ऐलान किया ।

पलवल से सोनीपत तक बनाए ज रहे ईस्टर्न पैरीफेरल एक्सप्रेसवे के लिए सबसे ज्यादा गौतमबुद्ध नगर 36 गांवों के किसानों की जमीन अधिग्रहण की जनी है। जमीन का मुआवजा तय करने के लिए मंगलवार को कलेक्ट्रेट पर जिला प्रशासन ने किसानों की बैठक बुलाई।

बैठक में डीएम की अनुपस्थिति में एडीएम प्रशासन ओपी आर्या व 36 गांवो के सैकड़ों किसान शामिल हुए। कलेक्ट्रेट सभागार में शाम चार बजे बैठक शुरू हुई। जिसमें किसानों ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उन्हें सर्किल रेट पर मुआवज दिया ज रहा है जो  बहुत कम है। एडीएम प्रशासन ने मुआवजा सर्किल रेट पर न देकर आठ सौ रूपए प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से देने को किसानों को आश्वासन दिया।

किसानों ने उनके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया। एडीएम ने किसानों को आश्वासन दिया है कि वे डीएम के साथ वार्ता कर मुआवाजे की समस्या का शीघ्र समाधान कराने की कोशिश करेंगे। किसान नेता तेज गुजर्र ने बताया कि मुआवजे की मांग को लेकर 31 मई को मायचा गांव में 36 गांवों के किसानों की महापंचायत बुलाई है ।जिसमें आंदोलन की रणनीति पर विचार किया जएगा। बैठक में  सैकड़ों किसान शमिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुआवजे को लेकर हुई बैठक बेनतीजा