अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब में हिंसा की घटनाओं में तीन और व्यक्तियों की मौत

पंजाब में मंगलवार को दूसरे दिन जारी हिंसा के तांडव में तीन और व्यक्ितयों की मृत्यु हो गई तथा कई अन्य घायल हो गए। वहीं कफ्यरूग्रस्त जालंधर जिला के नूरमहल विधानसभा का उपचुनाव स्थगित कर दिया गया है।

चुनाव अब 12 जून को कराया जाएगा। दूसरी ओर, वियना में हुई घटना की जोरदार निंदा करते हुए पंजब में राजनैतिक दलों ने मंगलवार को केंद्र से अनुरोध किया कि वह आस्ट्रियाई सरकार के साथ बातचीत तेज करे ताकि उस घटना के दोषियों को कड़ी सज दी ज सके।

राज्य के चार कफ्यरूग्रस्त जिलों में कफ्यरू में ढील दी गई वहीं मुक्तसर जिला के मलोट नगर में कफ्यरू लगा दिया गया है। राज्य के शहरी इलाकों में स्थिति में अपेक्षाकृत सुधार हो रहा है वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में दंगाई सक्रिय हैं। जालंधर से प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर कुल मिलाकर स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में बताई जाती है। जालंधर में सोमवार रात अकाली पार्षद बलबीर सिंह बिट्ट के घर पर दंगाइयों ने हमला बोल दिया।

अपने बचाव में सिंह ने गोलियां चलाईं जिसमें विजय कुमार नामक एक युवक की मृत्यु हो गई। दूसरी घटना जालंधर में नकोदर मार्ग पर भागरे कैंप में पुलिस तथा दंगाइयों के बीच हुई झड़प के दौरान रूपरानी नाम की एक महिला की मौत हो गई। जालंधर जिला के नकोदर में सोमवार देर रात गश्त के दौरान हिंसक भीड़ ने एक पुलिस कर्मी को चाकू घोंप दिया जिससे उसकी मृत्यु हो गई। मुक्तसर से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मलोट में वाल्मीकि समाज के कुछ लोगों ने रविदास नगर में वियना में मारे गए संत रामानंद के सम्मान में आयोजित एक सभा में शांतिपूर्ण अरदास के बाद पुलिस पर पथराव किया गया।

इस घटना के बाद वहां कर्फ्यू लगा दिया गया।  मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में यहां सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया। इसमें उस अपराध के लिए जिम्मेदार लोगों को कठोर सज देने की मांग की गई। दो घंटे तक चली बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए बादल ने कहा कि भारत सरकार को इस मामले को आस्ट्रियाई सरकार के समक्ष उठाना चाहिए और संत रामानंद का शव मुल्क लाया जना चाहिए।

इस बैठक में शिरोमणि अकाली दल, भाजपा, कांग्रेस, माकपा, भाकपा, बसपा और शिवसेना ने भी हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री बादल ने कहा कि राज्य सरकार सूबे में पिछले दो दिनों के दौरान भड़की हिंसा के दौरान हुए नुकसान का पूरा हज्रना देने को तैयार है। उन्होंने कहा कि अगर पंथ के लोग चाहें तो राज्य सरकार दिवंगत पंथगुरु का राजकीय ढंग से अंतिम संस्कार करने को तैयार है।

इस बीच, आस्ट्रिया ने भारत को आश्वासन दिया है कि रविदासी धर्मगुरु संत रामानन्द का शव भारत भेजने के प्रबंध किए जा रहे हैं। आस्ट्रिया के विदेशमंत्री माइकेल स्पाइंडेलगर ने विदेशमंत्री एस.एम. कृष्णा को टेलीफोन कर इस घटना का ब्यौरा बताया तथा हमलावरों को गिरफ्तार कर दंडित करने का भरोसा दिलाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब में हिंसा की घटनाओं में तीन व्यक्तियों की मौत