DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेयजल और आबकारी मंत्री से मांगा इस्तीफा

धर्मनगरी की जनता बिजली, पानी और खस्ताहाल सड़कों की समस्याओं से जूझ रही है। पानी की किल्लत और बिजली की अघोषित कटौती और टूटी सड़कों ने तो लोगों के आंसू निकाल दिये हैं। नगर में फैली इन समस्याओं को लेकर लघु व्यापार ऐसोसिएशन ने चंडीघाट चौराहे पर जोरदार प्रदर्शन कर पेयजल मंत्री मातबर सिंह कंडारी और प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। उन्होंने पेयजल मंत्री और आबकारी मंत्री मदन कौशिक के इस्तीफे की मांग की।

ऐसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा कि नगर में फैली अव्यवस्थाओं से जनता बेहद त्रस्त हो चुकी है। कुंभ मेला कार्य अभी तक पूरा नहीं हो पाया है जिसका खामियाज जनता को भुगतना पड़ रहा है। जगह जगह पाइपलाईन टूटने के कारण लोगों के घरों में सीवर का गंदा पानी ज रहा है।

उन्होंने सभी समस्याओं के लिये भाजपा की कार्यशली को दोषी ठहराया और प्रदेश के शिक्षा मंत्री मदन कौशिक के नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दिये जने की मांग की। प्रदेश सचिव तेजप्रकाश साहु ने आरोप लगाया कि शिक्षा मंत्री मदन कौशिक निजी स्कूलों में फीस वृद्धि करने के साथ ही शिक्षा के निजीकरण को बढावा दे रहे हैं। भूपेंद्र राजपूत ने चेतावनी दी कि यदि पेयजल आपूर्ति सूचारू रूप से नहीं की गई तो आंदोलन उग्र रूप लेगा जिसके लिये प्रशासन स्वंय जिम्मेदार होगी। प्रदर्शन कारियों में महेंद्र सैनी, सुभाष अग्रवाल, मुकेश, खुशीराम, विनोद कश्यप, अनिल गुप्ता, मनीराम जखमोला, राजेश वर्मा, महेंद्र सैनी,  अजरुन नेगी शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेयजल और आबकारी मंत्री से मांगा इस्तीफा