DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक्सप्रेस वे: कुबेरपुर में किसानों ने दौड़ाई सर्वे टीम

यमुना एक्सप्रेस वे और एक्सप्रेस सिटी की राह में अब कृषि भूमि का अधिग्रहण रोड़ा बनता दिखायी दे रहा है। मंगलवार को आक्रोशित किसानों ने सर्वे करने कुबेरपुर आयी बिजली विभाग की टीम को बैरंग लौटा दिया। इस दौरान टीम के वाहनों में तोड़फोड़ करते हुए हवा तक निकाल दी गयी। पुलिस ने किसी तरह मौके पर पहुंचकर टीम के सदस्यों की जान बचायी।

यमुना एक्सप्रेस-वे के लिए अधिग्रहण का कार्य करीब पूरा हो चुका है, लेकिन कुछ जगह कब्जे की प्रक्रिया अटकी हुई है। जबकि एक्सप्रेस सिटी के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया अब शुरू होने वाली है। चौगान, छलेसर, गढ़ीरामी, कुबेरपुर आदि गांवों में अधिग्रहण करने की प्रक्रिया चल रही है। इसके लिए हाल ही में धारा-4 की कार्रवाई का प्रकाशन होने से यहां के किसानों में आक्रोश उत्पन्न हो गया है। अधिग्रहीत होने वाली भूमि में कई हाईटेंशन विद्युत लाइनें भी आ रही हैं। इनकी शिफ्टिंग का सर्वे करने मंगलवार को बिजली विभाग के इंजीनियरों की टीम चौगान पहुंची। वहां टीम ने जैसे ही जमीन की नाप तौल शुरू की, उसी समय थोड़ी ही देर में यह खबर पड़ोस के गांवों तक पहुंच गयी।

एत्मादपुर प्रतिनिधि के अनुसार इसके बाद गढ़ीरामी सहित कई गांवों के युवक हाथों में लाठी-डण्डे लेकर मौके पर दौड़े चले आये। आक्रोशित भीड़ को देख सर्वे टीम ने भागने की कोशिश की, लेकिन उन्हें कुबेरपुर के पास घेर लिया गया। एकजुट होकर आये आन्दोलित ग्रामीणों ने लाठी-डण्डों से उनकी गाड़ियों के शीशे तोड़ दिये। साथ ही कुछ पहियों की हवा निकाल दी। हर कोई यही कह रहा था कि जान दे देंगे, लेकिन एक इंच जमीन नहीं देंगे। ग्रामीणों के विरोध की जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी निरीक्षक उदय प्रताप सिंह फोर्स लेकर कुबेरपुर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बनी तो हल्का बल प्रयोग भी किया। इसे लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच तकरार भी हुई। तब कहीं जाकर पुलिस ने सर्वे टीम को सकुशल ग्रामीणों के चंगुल से निकाला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक्सप्रेस वे: कुबेरपुर में किसानों ने दौड़ाई सर्वे टीम