DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईआईटी में मुकुल को 98 वीं व देबाशीष को 260 वीं रैंक

आईआईटी प्रवेश परीक्षा में गाजियाबाद के दो परीक्षार्थियों ने सफलता के झंडे गाड़े हैं। गाजियाबाद के मुकुल गुप्ता को जहां देशभर में 98 वीं रैंक मिली है वहीं देबाशीष त्यागी को 260 वीं रैंक हासिल हुई है। दोनों ही लोग राजनेताओं व भ्रष्टाचार को देश की सबसे बड़ी समस्या मानते हैं।

अशोक नगर में रहने वाले मुकुल गुप्ता के घर सोमवार को खुशी का माहौल था। होता भी क्यों न, जब मुकुल ने पहले ही प्रयास में इस प्रतियोगिता को न सिर्फ पास कर लिया बल्कि उसमें एक सम्मानजनक रैंक भी हासिल की।

मुकुल ने इसी साल गाजियाबाद के एक प्रतिष्ठित स्कूल से बारहवीं की परीक्षा 87 प्रतिशत अंक के साथ पास की है। वह बताते हैं कि स्कूल से अलग वो प्रतियोगी परीक्षा के लिए रोजाना छह से सात घंटे पढ़ाई करते थे। अपने पिता वाईके.गुप्ता को आदर्श मानने वाले मुकुल कम्प्यूटर इंजीनियर बनना चाहते हैं। उनकी नजर में देश की सबसे बड़ी समस्या भ्रष्टाचार है।

वहीं गोविंदपुरम निवासी देबाशीष त्यागी के यहां भी खुशी का नजारा था। देबाशीष को 260 वीं रैंक मिली है। वो कहते हैं कि उनकी इच्छा तो कम्प्यूटर इंजीनियर बनने की है लेकिन रैंक के हिसाब अगर उन्हें वो ट्रेड नहीं मिली तो फिर इलेक्ट्रोनिक्स इंजीनियरिंग में जाना चाहेंगे।

देबाशीष ने भी दसवीं के परिणाम के बाद ही कोचिंग शुरू कर दी थी और स्कूल से अलग वो भी छह से सात घंटे अपनी पढ़ाई को देते थे। देबाशीष ने भी इसी साल 92.6 प्रतिशत अंक लेकर बारहवीं की है। देबाशीष की नजर में राजनेता देश की सबसे बड़ी समस्या हैं। देबाशीष के पिता आदेश कुमार त्यागी पुलिस विभाग में प्रतिसार निरीक्षक हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुकुल को 98 वीं, देबाशीष को 260 वीं रैंक