DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जैन धर्म विश्व का सर्वोच्च धर्म है: राजनाथ सिंह

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद राजनाथ सिंह ने कहा कि जैन धर्म विश्व का धर्म ही नहीं है बल्कि सृष्टि का सर्वोच्च धर्म है। उन्होंने कहा कि विश्व के लोग यदि जैन धर्म को अपना लें तो विश्व से आतंकवाद का भी सफाया हो सकता है।

राजनाथ सिंह सोमवार को दिगंबर जैन मंदिर में पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव के तीसरे दिन वहां पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जैन धर्म मानव ही नहीं बल्कि जानवर, पक्षी समेत सभी के कल्याण की बात करता है। उन्होंने जैन धर्म को प्राचीन बताते हुए कहा कि पूरा विश्व यदि जैन धर्म को अपना लें तो आतंकवाद, वैमनस्य और कुरीतियां स्वत : समाप्त हो जायेगी। उन्होंने कहा कि वे जैन धर्म का बहुत सम्मान करते हैं। यह मनुष्य को मनुष्य से जोड़ने का काम भी करता है।

राजनाथ सिंह ने इस मौके पर पक्षी चिकित्सालय में बीमारी के बाद ठीक हुए शांति के प्रतीक कबूतरों को उड़ाया। दिगम्बर जैन मंदिर में तप कल्याणक महोत्सव के दौरान घटयात्रा, आदिकुमार की बाल क्रीड़ा, चारों दिशाओं में महायज्ञ, वृषभ कुमार राज्याभिषेक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुनि सौरभ सागर महाराज ने कहा कि संसार में रहकर बचपन, यौवन और बुढ़ापा तीनों को समझने की चेष्टा करनी चाहिये। उन्होंने कहा कि बच्चे सिखाने से कम और दिखाने से अधिक सीखते है। बच्चों के सामने माता-पिता ऐसा काम न करें जिससे उनमें गलत संस्कार आयें। उन्होंने कहा कि परमात्मा बनने के लिये पदार्थो का त्याग करना पड़ता है।

इस अवसर पर जंबू प्रसाद जैन, एनसी. जैन, गुलशन राय जैन, अशोक जैन, जेके जैन, अजय जैन समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

राजनाथ सिंह ने रविवार को देर सांय गोविंदपुरम स्थित महर्षि दयानंद विद्यापीठ में आयोजित वार्षिकोत्सव में भाग लिया और शिक्षा के साथ संस्कार और चरित्र के विकास पर बल दिया। विद्यालय के संरक्षक बालेश्वर त्यागी ने कहा कि राजनाथ सिंह ने वैदिक गणित और नकल विहीन परीक्षा प्रारंभ करवाकर सराहनीय कार्य किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जैन धर्म विश्व का सर्वोच्च धर्म है: राजनाथ सिंह