अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंत्रिमंडल विस्तार पर अनिश्चितता का साया

नई दिल्ली। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि पंजाब की हिंसक स्थिति और पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान के कारण मंगलवार को होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार पर अनिश्चितता का साया मंडरा रहा है। कांग्रेस नेतृत्व द्वारा मंत्रियों का नाम तय करना अभी बाकी है।

कांग्रेस के एक उच्च पदस्थ नेता ने  कहा,‘‘पंजाब और पश्चिम बंगाल की स्थिति के कारण संभव है कि मंत्रिमंडल का विस्तार न हो।’’

उन्होंने कहा कि इन कारणों के अलावा कांग्रेस नेतृत्व को अभी मंत्रियों के नाम तय करने बाकी हैं और यह भी निश्चित करना है कि किस राज्य से कितने मंत्री होंगे। बहरहाल उन्होंने यह भी कहा कि तय कार्यक्रम के अनुसार मंत्रियों के शपथ लेने की भी संभावना कायम है।

उधर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि ने सोमवार को चेन्नई में आधिकारिक रूप से यह घोषणा की कि द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) केंद्र की कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार में शामिल होगी। डीएमके ने इससे पहले घोषणा की थी कि वह संप्रग सरकार को बाहर से समर्थन देगी।

करुणानिधि ने मंगलवार को एक बयान जरी कर कहा,‘‘डीएमके केंद्र की संप्रग सरकार में शामिल होगी। मंगलवार को शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए डीएमके के सांसद दिल्ली रवाना हो रहे हैं।’’उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से उनकी फोन पर बात हो गई है और मंत्री पद के लिए हमारी ओर से सौंपी गई सूची से वह संतुष्ट हैं।

डीएमके की ओर से किन-किन नेताओं को मंत्री बनाया जएगा, इस बारे में आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं कहा गया है।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मंत्रिमंडल विस्तार पर अनिश्चितता का साया