अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

स्कूल में घुसकर एक बच्ची से बलात्कार, एक और लड़की से बलात्कार का प्रयास यह बताता है कि राजधानी में कानून-व्यवस्था का क्या हाल है। फिर भी पुलिस आयुक्त मानते हैं कि दिल्ली पूरी तरह सुरक्षित है। उनके पास इसे साबित करने के आंकड़े भी हैं।

बलात्कार जसे मामलों में पुलिस आरोपी की सेक्स कुंठा का मामला बताकर अपनी जिम्मेदारी से हाथ झड़ लेती है। अशोक विहार के स्कूल में जो युवक दीवार फांद कर घुसे, उन्हें यह विश्वास तो होगा ही कि वे बच जएंगे, वर्ना दीवार फांदने का दुस्साहस भी न करते। सरकारी आंकड़े इस दुस्साहस की गणना नहीं करते। इस गणना के बिना स्कूल और बच्चियां ही नहीं, कोई भी सुरक्षित नहीं है। आंकड़े जो भी कहें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक