DA Image
22 फरवरी, 2020|6:06|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऋण के गाने पर प्रतिबंध पर रोक से उच्चतम न्यायालय का इन्कार

ऋण के गाने पर प्रतिबंध पर रोक से उच्चतम न्यायालय का इन्कार

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने फिल्म निर्देशक रामगोपाल वर्मा की फिल्म ऋण में राष्ट्रगान के प्रति असम्मान प्रदर्शित करने वाले गाने पर संबंधित न्यायाधिकरण के प्रतिबंध पर रोक लगाने से सोमवार को  इन्कार कर दिया।
 
न्यायमूर्ति वीएस सिरपुरकर और न्यायमूर्ति आर एम लोढ़ा की अवकाशकालीन खंडपीठ ने याचिकाकर्ता रामगोपाल वर्मा से कहा कि वह संबंधित गाने और दृश्यों पर से प्रतिबंध हटाने के लिए न्यायाधिकरण के पास पुन जाएं और यदि वहां से एक माह के भीतर राहत नहीं मिलती है। तब दोबारा उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएं।
 
न्यायाधिकरण ने फिल्म के उस गाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिसमें कुछ शब्द बदलकर राष्ट्रगान का इस्तेमाल किया गया है। न्यायाधिकरण ने इस गाने के दौरान फिल्माए गए दृश्यों को आपत्तिजनक करार दिया है।
 
हालांकि याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में दलील दी थी कि उनकी फिल्म में राष्ट्रगान के प्रति किसी तरह का असम्मान नहीं दर्शाया गया है और न्यायाधिकरण का फैसला संविधान के अनुच्छेद 19 एक जी. के तहत अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के प्रावधानों का उल्लंघन है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:ऋण के गाने पर उच्चतम न्यायालय का इन्कार