अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नागालैंड, त्रिपुरा में कांग्रेस को कोई सीट नहीं

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की भारी सफलता के बावजूद वह एक बार पिर नागालैंड और त्रिपुरा में कोई भी सीट जीतने में सफल नहीं रही। हांलाकि पूवर्ोत्तर क्षेत्र पर कांग्रेस अपनी पकड़ बनाने में जरुर कामयाब रही है। कांग्रेस ने पूवर्ोत्तर में इस बार 14 सीटों पर जीत हासिल की है जबकि पिछली बार उसने 12 सीटों पर जीत दर्ज की थी। कांग्रेस को असम में दो सीटों का नुकसान हुआ है पर मिजोरम में एक और मणिपुर तथा अरुणाचल प्रदेश में दो-दो सीटों का फायदा हुआ है। मेघालय, त्रिपुरा और नगालैंड में पार्टी की स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं आया है। नागालैंड में सत्तारुढ़ नगालैंड पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) ने एकमात्र लोकसभा सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखा है। एनपीएफ केके सीएन चंद्रा ने कांग्रेस के असुनगभा संगतम को 483003 मतों से पराजित किया। दूसरीआेर एनपीएफ नीत डीएएन ने विधानसभा उपचनावों में भारी जीत हासिल की है। मुख्यमंत्री निफ्यू रियो ने बताया कि यह जीत कार्यकर्ताआें के मिलकर काम करने का परिणाम है और लोगों ने राय में शांति स्थापित करने वाली सरकार को चुना है। मणिपुर में कांग्रेस ने भीतरी और बाहरी दोनों लोकसभा क्षेत्रों पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और पीपुल्स डेमोक्रेटिक एलायन्स (पीडीए) को हराकर जीत हासिल की है। त्रिपुरा में वामदलों ने दोनों सीटों पर आसान जीत दर्ज कर उन पर अपना कब्जा बरकरार रखा है। खगेन दास ने त्रिपुरा पश्चिम और बाजु बान रोईया ने त्रिपुरा पूर्व से जीत हासिल की है। मिजोरम में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को जो फायदा हुआ उसका लाभ उसे इन लोकसभा चुनावों में भी मिला। असम में पार्टी की लड़ाई कुछ कठिन जरूर थी पर फिर भी उसने सात सीटों पर जीत दर्ज की जो पिछली नौ सीटों से दो कम हैं। असम गण परिषद (एजीपी) और भारतीय जनता पार्टी भाजपा गठबंधन ने कांग्रेस से उसकी चार सीटे छीन ली। इन चुनावों में असम युनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एयूडीएफ) ने पहली बार आठ संसदीय क्षेत्रों से अपने प्रत्याशियों को खड़ा कर 14 प्रतिशत मत हासिल किए जो इसका बेहतरीन प्रदर्शन रहा जबकि एजीपी को पिछले चुनावों से एक सीट कम मिली और सिर्फ एक सीट पर जीत हासिल की जो इसका खराब प्रदर्शन कहा जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नागालैंड, त्रिपुरा में कांग्रेस को कोई सीट नहीं