अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छपरा में युवती की मौत पर बवाल

युवती की सड़क दुर्घटना में हुई मौत से आक्रोशित लोगों ने रविवार की दोपहर शहर में जमकर बवाल किया। पुलिस के साथ मारपीट की। सरकारी वाहनों के शीशे फोड़ दिये। सड़क पर आगजनी की और शव को सड़क पर रखकर शहर के डाकबंगला पथ को जाम कर दिया। घटना शहर के रामजयपाल कॉलेज के सामने हुई। मिली जानकारी के अनुसार मढ़ौरा थाने के भलुई गांव के सरोज महतो अपनी पत्नी 21 वर्षीया वंदना देवी को शहर के एक केन्द्र से परीक्षा दिलाकर मोपेड से लौट रहे थे। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कॉलेज के सामने पीछे से आ रही एक स्कॉर्पियो गाड़ी ने उनकी मोपेड में धक्का मार दिया। वंदना मोपेड पर से गिर पड़ी। वह संभल पाती तभी पीछे से आ रही फायर ब्रिगेड की गाड़ी उसे रौंदते हुए आगे बढ़ गयी। लोगों ने आरोप लगाया कि सूचना देने के घंटा भर बाद पुलिस पहुंची। तब तक शव को सड़क पर रखकर डाकबंगला रोड जाम कर दिया गया।ड्ढr ड्ढr पुलिस जैसे ही वहां पहुंची, लोग उग्र हो गये। लोगों ने एक-दो पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की। नगर थाने के वाहन कैदी वैन समेत अन्य गाड़ियों के शीशे तोड़ दिये। लोगों ने आरोप लगाया कि फायर ब्रिगेड की गाड़ी को थाने से भगा दिया गया। नाराज लोगों ने फिर पथराव शुरू कर दिया। ओएफसी का कवर सड़क पर जलाकर आगजनी की। उपद्रव को देखते हुए पुलिस को अपनी बंदूकें ताननी पड़ीं। पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए लाठियां भी तानीं। महमूद चौक से लेकर राजेन्द्र स्टेडियम तक पुलिस ने लोगों को खदेड़ा।ड्ढr ड्ढr नगर थाने से महज दो सौ गज की दूरी पर हुई घटना में लोगों ने पुलिस के हथियार छीनने की कोशिश की। सुभाष राय उर्फ झरीमन राय और पुलिस के बीच तीखी नोक-झोंक भी हुई। एसडीओ सांवर भारती, डीएसपी मिथिलेश कुमार, थानाध्यक्ष ए.के. तिवारी आदि वहां थे। लोगों को खदेड़ने के बाद पुलिस मृतका के शव को लेकर सदर अस्पताल में गयी। डीएसपी ने बताया कि उपद्रव करने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दो दर्जन लोगों पर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, आगजनी, तोड़फोड़ और पुलिस पर जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छपरा में युवती की मौत पर बवाल