अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लिट्टे की पराजय, प्रभाकरण मारा गया!

श्रीलंका में विद्रोही संगठन लिबरेशन टाइगर्स आफ तमिल ईलम (लिट्टे) के नेता वेल्लुपिल्लई प्रभाकरण के मारे जाने और सेना को उसका शव मिलने की खबर है हालांकि इसकी अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि वे शव की शिनाख्त कर रहे हैं कि क्या यह वाकई में प्रभाकरण का ही शव है। सेना के चार अन्य सूत्रों ने शव मिलने और उसकी शिनाख्त किए जाने की पुष्टि की। हालांकि सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर उदय ननयक्कर ने इस रिपोर्ट का खंडन किया है।ड्ढr ड्ढr इससे पहले रविवार को लिट्टे ने सरकार के साथ संघर्ष में अपनी पराजय स्वीकार कर ली और एकतरफा संघर्ष विराम करने का ऐलान कर दिया। लिट्टे समर्थक वेबसाइट ‘तमिलनेट’ में संगठन के अंतर्राष्ट्रीय संबंध मामलों के प्रमुख सिल्वरास पद्मनाथन ने एक बयान में कहा कि लड़ाई एक कटु अंत तक आ पहुंची है। हमने अपनी बंदूकें शांत करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि हमारे पास आखिरी विकल्प रह गया है ताकि दुश्मन के पास हमारे लोगों को मारने का बहाना नहीं रह जाए। इस बीच श्रीलंका में राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने लिट्टे के खिलाफ युद्ध में जीत की घोषणा करते हुए कहा कि अब लड़ाई अंतिम दौर में है। हालांकि विद्रोहियों ने रविवार को सैनिकों के खिलाफ आत्मघाती हमले किए। उन्होंने कहा कि विद्रोहियों के खिलाफ पिछले 25 वर्षो से जारी युद्ध में विजय मिल चुकी है। राष्ट्रपति कार्यालय के अधिकारियो ने पहचान छुपाए जाने की शर्त पर बताया कि श्री राजपक्षे तमिल विद्रोहियों के खिलाफ जीत की औपचारिक घोषणा राष्ट्रीय टेलीविजन पर कर सकते है।ड्ढr ड्ढr वर्ष 1में युद्ध की शुरुआत होने के बाद से पहली बार सेना ने सभी तटीय इलाकों को कब्जे में ले लिया। युद्धग्रस्त क्षेत्र से कल करीब 37 हजार लोग सुरक्षित इलाकों में भाग गए थे। गत गुरुवार से 50 हजार से अधिक लोग युद्धग्रस्त क्षेत्र से भाग चुके है। संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि करीब 50 हजार से एक लाख लोग युद्धग्रस्त क्षेत्र में फंसे हुए हैं। इस बीच सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर उदय नयनक्कारा ने बताया कि युद्धग्रस्त क्षेत्र वेल्लीमुल्लइवाइकल से सभी नागरिकों को मुक्त करा लिया गया है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लिट्टे की पराजय, प्रभाकरण मारा गया!