अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजद-सपा बिना बनेगी सरकार!

वीं लोकसभा में कांग्रेसनीत यूपीए ने जनादेश स्वीकार कर नई सरकार के गठन की कवायद तेज कर दी हैं। कांग्रेस की बैठकों का दौर शुरू होने के साथ ही किसे कैबिनेट में शामिल किया जाए और किस घटक को कौन सा मंत्रालय दिया जाए, इस पर मंथन चालू है। खास बात यह है कि गठबंधन इस बार सपा और राजद को सरकार से दूर रख सकता है। ऐसे संकेत रविवार को कांग्रेस की कार्यसमिति की बैठक में मिले।ड्ढr लालू और मुलायम का कड़ा विरोधड्ढr उधर, सोनिया-मनमोहन लालू और मुलायम जसे पुराने सथियों को टोकन के तौर पर उन्हें सरकार में शामिल करने के पक्ष में हैं। लेकिन यूपी-बिहार के कांग्रेसी नेता राजद-सपा को सरकार में शामिल करने के खिलाफ खुलकर आ गए हैं। यूपी-बिहार के कांग्रेसियों के साथ प्रवक्ता राजीव शुक्ला एवं बिहार के कांग्रेस प्रभारी इकबाल सिंह आदि लालू-मुलायम को यूपीए का पार्टनर बनाए जाने का पुराोर विरोध कर रहे हैं। राहुल गांधी भी इस तर्क से सहमत हैं कि कांग्रेस को यूपी-बिहार के बार में एकला चलो की नीति पर ही चलना चाहिए और चुनाव पूर्व समझौता फामरूले के हिसाब से सपा -राजद से रिश्ते नहीं रखने चाहिए।ड्ढr संसदीय दल के नेता का चुनाव कलड्ढr बैठक के बाद पार्टी के प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी ने बताया कि 1मई को सुबह में पार्टी के संसदीय दल की बैठक में पार्टी के संसदीय दल का नेता चुना जाएगा। माना जा रहा है कि मनमोहन ही संसदीय दल के नेता चुने जाएंगे। सूत्रों के अनुसार मनमोहन 20 मई को पीएम पद की शपथ ले सकते हैं। द्विवेदी ने बताया कि 20 मई को ही कांग्रस के घटक दलों की भी बैठक होगी। इसमें लालू, पासवान और मुलायम को न्योता नहीं दिया गया है।ड्ढr आज राष्ट्रपति से मिलेंगे प्रधानमंत्रीड्ढr इस बीच सूत्रों के अनुसार पीएम सोमवार दोपहर राष्ट्रपति से मिलकर अपने मंत्रिमंडल का इस्तीफा सौंप देंगे। उससे पहले सुबह 10 बजे कैबिनेट की बैठक होगी। अभी यह तय नहीं है कि राष्ट्रपति मनमोहन को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करेंगी या फिर डॉ सिंह सरकार बनाने का दावा उनके सामने पेश करेंगे।ड्ढr घटक दलों की अब मंत्रालयों पर नजरड्ढr कांग्रेस के सामने नई सरकार के स्वरूप पर अड़चन बनी हुई है। डीएमके और तृणमूल कांग्रेस जसे बड़े घटक दल है, अपने सात-सात मंत्री चाहते है। शरद पवार की भी नजर अपने पुराने मंत्रालयों पर है। रालोद के अध्यक्ष अजित सिंह व देवेगौड़ा की पार्टी से भी कांग्रेस बात कर रही, वे भी मलाईदार मंत्रालय मांगेंगे। सबसे अहम मामला सपा व राजद को सरकार में शामिल करने को लेकर फंसा हुआ है। हिटीड्ढr कांग्रेसड्ढr सुबह में सोनिया ने लालू-पासवान से फोन पर बात की। दोनों को कैबिनेट की बैठक में आने का न्योता दिया।ड्ढr नवनिर्वाचित सांसद और पार्टी के नेता 10, जनपथ पहुंचे।ड्ढr राहुल गांधी ने पार्टी नेताओं को दिन में चाय पर बुलाया।ड्ढr युवा सांसदों की टोली सचिन पायलट के नेतृत्व में सोनिया से मिली।ड्ढr दोपहर में कांग्रेस ने राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा।ड्ढr शाम को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई।ड्ढr सोमवार को डॉ मनमोहन सिंह सरकार इस्तीफा देगी।ड्ढr मंगलवार को कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में डॉ मनमोहन सिंह को औपचारिक रूप से नेता चुना जायेगा।ड्ढr नयी सरकार संभवत: 22 मई को शपथ लेगी। पिछली बार भी डॉ मनमोहन सिंह ने 22 मई को ही सत्ता संभाली थी।ड्ढr सोनिया-मनमोहन ने नयी सरकार के स्वरूप को लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ विचार-विमर्श किया।ड्ढr चौथे मोर्चे को सरकार में शामिल करने के प्रस्ताव पर विचार नहीं।ड्ढr बिहार के पार्टी प्रभारी इकबाल सिंह ने लालू-मुलायम को कैबिनेट में रखने के विचार का विरोध किया।ड्ढr समाजवादी पार्टीड्ढr मुलायम सिंह दिल्ली पहुंचे, लेकिन अंतिम समय में पार्टी की बैठक स्थगित की।ड्ढr अमर सिंह ने कहा : हम हमेशा कांग्रेस के साथ हैं। समर्थन पर फैसला कांग्रेस को लेना है।ड्ढr द्रमुकड्ढr करुणानिधि ने फोन कर सोनिया को बधाई दी।ड्ढr नयी सरकार में सात सीटों की मांग रखी।ड्ढr कांग्रेस ने द्रमुक नेतृत्व से भावी मंत्रियों की सूची मांगी।ड्ढr कांग्रेस को ए. राजा और टीआर बालू से परहेा।ड्ढr राकांपाड्ढr प्रफुल्ल पटेल ने कहा : हम कांग्रेस को बिना शर्त समर्थन देंगे।ड्ढr तृमकांड्ढr ममता बनर्जी ने कहा : सरकार में शामिल होने पर फैसला पार्टी की कार्यसमिति करगी।ड्ढr सोमवार को दिल्ली में सोनिया से मिलेंगी पार्टी सुप्रीमो।ड्ढr भाजपाड्ढr मेनका और वरुण गांधी सुबह में लालकृष्ण आडवाणी से मिलने पहुंचे।ड्ढr भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह भी आडवाणी से मिलने पहुंचे।ड्ढr पार्टी नेताओं ने अनौपचारिक बैठक कर चुनावी पराजय की समीक्षा की।ड्ढr आडवाणी को विपक्ष का नेता बने रहने के लिए मनाने का प्रयास जारी।ड्ढr जदयूड्ढr शरद यादव ने कहा : वरुण और मोदी के कारण एनडीए को नुकसान हुआ।ड्ढr वाम मोर्चाड्ढr माकपा पोलित ब्यूरो की बैठक सोमवार को दिल्ली में। बुद्धदेव नहीं आयेंगे।ड्ढr भाकपा सचिव एबी वर्धन ने तीसर मोर्चे के अस्तित्व में होने का दावा किया।ड्ढr किससे समर्थन, किससे नहींड्ढr ादएस से समर्थन लेने से गुरेा नहीं। इसके पास तीन सांसद हैंड्ढr सपा के पास 23 एमपी हैं, लेकिन कांग्रेस नेतृत्व समर्थन के खिलाफड्ढr लालू के नेतृत्व वाले राजद पर सोनिया गांधी करेंगी विचार, कैबिनेट बैठक में आने का न्योताड्ढr निर्दलीयों के बार में भी सोचा जा रहा हैसंभावित कैबिनेटड्ढr मोंटेक सिंह -वित्तड्ढr प्रणव मुखर्जी-विदेशड्ढr पी चिदंबरम-गृहड्ढr कमलनाथ-वाणिज्य व उद्योगड्ढr शरद पवार-कृषिड्ढr प्रफुल्ल पटेल-नागरिक उड्डयनड्ढr इन्हें भी मिल सकती है कुर्सी : गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल, ममता बनर्जी, टीआर बालू, ए राजा , दयानिधि मारन और फारूक अब्दुल्ला, सुबोधकांत सहाय, मीराकुमारड्ढr युवा चेहरे भी होंगे: राहुल गांधी ज्योतिरादित्य सिंधिया, जितिन, सचिन पायलट, मिलिंद देवड़ा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजद-सपा बिना बनेगी सरकार!