अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजग में भी पड़ी दरार

चुनाव में राजग के लिए सोमवार अच्छा नहीं रहा। सहयोगी दलों के न आने के कारण गठबंधन की बैठक रद करनी पड़ी। बैठक में आम चुनाव में हुई करारी हार की चर्चा होनी थी। दिन भर राजग में बिखराव की हवा को बल मिलता रहा। जद (यू) के अध्यक्ष शरद यादव के बयान पर मोदी को आखिरकार सफाई देनी पड़ी। मोदी ने कहा कि वह गुजरात की ही सेवा करते रहेंगे। शरद यादव प्रचार के दौरान मोदी को तराीह दिए जाने से खफा थे।ड्ढr दूसरी ओर,‘लौह पुरुष’ अंतत: पिघल ही गए। दो दिन की ऊहापोह के बाद सोमवार को भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने सोमवार को घोषणा की, लालकृष्ण आडवाणी नेता विपक्ष की जिम्मेदारी दोबारा से उठाने के लिए तैयार हैं। आडवाणी ने पार्टी की बैठक में अपने मुख्यमंत्रियों से मुलाकात की और हार के कारणों की चर्चा भी की। बिखराव की खबरों के बीच, घटक दलों के न आने के कारण राजग की समीक्षा बैठक रद कर दी गई। बैठक में राजग के मुख्यमंत्रियों को शिरकरत करनी थी।ड्ढr बिहार के मुख्यमंत्री और जद (यू) के वरिष्ठ नता नीतीश कुमार पहले ही व्यस्तता के कारण नई दिल्ली आने में असमर्थता जाहिर कर चुके थे। हालाँकि जद(यू) अध्यक्ष शरद यादव दिल्ली में मौजूद थे। शरद यादव समीक्षा बैठक से पहले ही हार के लिए नरन्द्र मोदी और वरुण गांधी को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। अकाली दल के अध्यक्ष प्रकाश सिंह बादल भी बैठक की तारीख आगे बढ़ाने की बात कह चुके थे। सूत्रों का कहना है कि इस सबके पीछे राजग के दलों में बढ़ते मतभेद हैं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजग में भी पड़ी दरार