DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लिट्टे का दावा, जिंदा है प्रभाकरण

तमिल विद्रोही संगठन लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे)प्रमुख वेल्लुपिल्लई प्रभाकरण जिंदा है। यह दावा लिट्टे समर्थक वेबसाइट ने किया है। वहीं सोमवार को श्रीलंकाई सेना ने प्रभाकरण की मौत का दावा किया था। श्रीलंका सेना ने सोमवार को कहा था कि उत्तरी श्रीलंका के युद्ध क्षेत्र में संघर्ष के दौरान प्रभाकरण मारा गया। सेना ने कहा था कि प्रभाकरण ने को दो वरिष्ठ सहयोगी भी मारे गए। सेना के दावे को खारिज करते हुए लिट्टे के अंतर्राष्ट्रीय मामलों के प्रमुख पथमनाथन ने कहा कि प्रभाकरन सुरक्षित हैं। लिट्टे समर्थक वेबसाइट ‘तमिल नेट’ ने इस संबंध मंे जानकारी दी। पथमनाथन ने कहा, ‘‘मैं तमिल समुदाय को बताना चाहता हूं कि हमारे प्रिय नेता प्रभाकरण जीवित और सुरक्षित हैं। वह तमिलों की स्वतंत्रता और उनकी प्रतिष्ठा के लिए संघर्ष करते रहेंगे।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लिट्टे का दावा, जिंदा है प्रभाकरण