अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन्दिरा भवन के उपकेन्द्र में आग लगी

ार्यालय संवाददाता लखनऊ सोमवार तड़के बारिश के बाद इन्दिरा भवन के उपकेन्द्र में अचानक आग लग गई। इससे उपकेन्द्र के केबल व उपकरण जल गए। जबकि 10 एमवीए का पावर ट्रांसफार्मर पूरी क्षतिग्रस्त हो गया। आग इतनी भीषण थी कि उसे बुझाने में फायर ब्रिगेड के दस्तों को घंटो मशक्कत करनी पड़ी। आग बुझाने के दौरान उपकेन्द्र के कई उपकरणों में पानी भर गया। इस अग्निकाण्ड से इन्दिरा भवन, मीराबाई गेस्ट हाउस, विधायक निवास समेत आसपास के क्षेत्रों की बिजली घंटो गुल रही। दोपहर बाद जवाहर भवन उपकेन्द्र से वैकल्पिक व्यवस्था कर प्रभावित इलाकों में बिजली आपूर्ति सामान्य की जा सकी। पिछले एक साल के भीतर लेसा के वितरण मण्डल-1 में यह बारहवाँ पॉवर ट्रांसफार्मर जला है।ड्ढr आग लगने तथा लगातार क्षतिग्रस्त हो रहे पावर ट्रांसफार्मरों की खराबी की जाँच के लिए मध्याँचल विद्युत वितरण निगम के एमडी बीबी सिंह ने तीन सदस्यीय जाँच समिति गठित कर दी है मुख्य अभियन्ता एसए राय की अध्यक्षता में बनी जाँच समिति में अधीक्षण अभियन्ता मुख्यालय एमयू खान तथा अधिशासी अभियन्ता मुख्यालय एके सिंह को सदस्य बनाया गया है। उधर लेसा के वितरण मण्डल एक व पंचम के अधीक्षण अभियन्ता शक्ित सिंह का कहना है कि इन्दिरा भवन उपकेन्द्र के क्षतिग्रस्त 10 एमवीए के ट्रांसफार्मर को ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है। ठीक होते ही इसे तुरन्त चालू कर दिया जाएगा।ड्ढr उपकरणों की जाँच ठंडे बस्ते में: पावर कारपोरेशन प्रबन्धन ने एक माह पूर्व सारे निगमों को बिजली की माँग बढ़ने से पहले ट्रांसफार्मरों व केबल आदि की जाँच करने के निर्देश दिए थे। इसी परीप्रेक्ष्य में मध्याँचल विद्युत वितरण निगम ने लेसा के सारे मण्डलों को अपने-अपने क्षेत्रों में पड़ने वाले उपकेन्द्रों, पॉवर ट्रांसफार्मरों, लाइनों आदि की टेस्टिंग के निर्देश दिए थे। फरवरी के पहले सप्ताह में जारी किए गए निर्देश पर अभी तक कार्रवाई शुरू नहीं हुई है।ड्ढr दोषियों पर नहीं हुई कार्रवाई: अभियन्ताओं की लापरवाही से पिछले एक साल के दौरान लेसा में दो दर्जन से अधिक पावर ट्रांसफार्मर खराब हुए हैं। इसकी जाँच भी हुई और जाँच में जिम्मेदार अधिकारियां के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति भी हुई। लेकिन कार्रवाई किसी के खिलाफ नहीं हुई। पिछले महीने की 27 तारीख को पावर कारपोरेशन के सीएमडी नवनीत सहगल ने मध्याँचल से जाँच रिपोर्ट तलब की थी। एमडी बीबी सिंह ने सीएमडी को भेजी अपनी जाँच आख्या में दोषी अभियन्ताओं के खिलाफ बिन्दूवार संस्तुति भेजी थी। मगर एक माह बाद भी उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इन्दिरा भवन के उपकेन्द्र में आग लगी