अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दामाद के जीतने पर गदगद हुए फारुख अब्दुल्ला

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री तथा नेशनल कान्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला को पन्द्रहवीं लोकसभा चुनाव में राजस्थान की अजमेर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी सचिन पायलट के जीतने की उम्मीद नहीं थी। फारुख अब्दुल्ला ने गुरुवार को अजमेर में प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि 25 साल बाद कांग्रेस को इतनी बड़ी सफलता की उम्मीद उन्हें नही थी। उन्होंने कहा कि वह सोचते थे कि पायलट नया लड़का है और परिसीमन के कारण दौसा छोड़कर नई सीट अजमेर से खड़ा हुआ है, कैसे सफलता मिलेगी। अब्दुल्ला ने कहा कि उनके दामाद सचिन पायलट की 43 दिन की कड़ी मेहनत, कांग्रेस कार्यकर्ताआें का सहयोग और मतदाताआें का अपार समर्थन मिलने से उन्हें जीत हासिल हुई है। देश की जनता को अब यादा समझदार बताते हुए उन्होंने कहा कि कोई नहीं कह सकता कि अवाम के मन में क्या है। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह के लिए तो परिणाम आने से पहले नया बंगला ढूंढने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी लेकिन उन्हें फिर से उसी कुर्सी पर बैठने का जनादेश मिल गया। राजस्थान में 25 में से 20 सीटों पर कांग्रेस की जीत को उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जनहित के निर्णयों का परिणाम बताते हुए खुशी जाहिर की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दामाद के जीतने पर गदगद हुए फारुख अब्दुल्ला