DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पल्स पोलियो में लगे डॉक्टर बुलाए गए

पल्स पोलियो के नाम पर विश्व स्वास्थ्य संगठन से मोटी तनख्वाह पाने वाले राज्यकीय चिकित्सकों को आखिर वापस आना पड़ा। राज्य सरकार ने प्रतिनियुक्ित पर तैनात अपने तीन दर्जन से ज्यादा डॉक्टर वापस बुला लिए हैं। अब इन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर तैनात किया जा रहा है।ड्ढr पल्स पोलियो अभियान के तहत राज्य के करीब 34 चिकित्सकों को प्रतिनियुक्ित पर भेजा गया था। पाँच सालों से ये चिकित्सक बतौर विशेषज्ञ पोलियो की रोकथाम में लगे थे। इतने प्रयास के बावजूद यूपी से पोलियो खत्म नहीं हुआ। इन डॉक्टरों के प्रति सरकार का रुख नाराजगी भरा था। यूपी के अस्पताल में डॉक्टरों की पहले से कमी है। इसके आधार पर राज्य सरकार कई बार केन्द्र सरकार से आग्रह कर चुकी थी कि उनके चिकित्सक लौटाए जाएँ। लेकिन पल्स पोलियो के नाम पर काम कर रहे डॉक्टर सरकारी अस्पतालों में वापसी से बच रहे थे। वजह यह कि इनका वेतन विश्व स्वास्थ्य संगठन से मिलता था जो सामान्य सरकारी डॉक्टरों से कहीं अधिक है। इसके लिए इन चिकित्सकों का काम भी मौसमी था। पर इस बार राज्य सरकार ने इन डॉक्टरों की वापसी के प्रति सख्त रवैया अपनाया। राज्य सरकार के दबाव में पिछले दिनों केन्द्र सरकार ने भी इन चिकित्सकों को कार्यमुक्त कर दिया। इस बारे में पूछे जाने पर स्वास्थ्य महानिदेशक डा. आईएस श्रीवास्तव ने हिन्दुस्तान को बताया कि इन चिकित्सकों की वापसी हो गई है। इन्हें विभिन्न अस्पतालों व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर तैनात किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पल्स पोलियो में लगे डॉक्टर बुलाए गए