DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिलेरी की विदाई पर नदारद शाही परिवार

एवरेस्ट विजेता सर एडमंड हिलेरी के अंतिम संस्कार में ब्रिटेन के शाही परिवार के किसी सदस्य के भाग नहीं लेने की खबर से न्यूजीलैंड के एक कंजरवेटिव लाबी समूह के लोग खासे नाराज हैं। वे इसको दिवंगत राष्ट्रीय नायक का अपमान मान रहे हैं। बकिंघम पैलेस ने कहा कि मंगलवार को आकलैंड में होने वाले महान पर्वतारोही के अंतिम संस्कार में गर्वनर जनरल आनंद सत्यानंद रानी एलिजाबेथ का आधिकारिक व व्यक्ितगत दोनों रूपों में प्रतिनिधित्व करेंगे। लेकिन शाही परिवार के किसी व्यक्ित के नहीं शामिल होने की जानकारी मिलने से न्यूजीलैंड रिपब्लिकन आंदोलन के सदस्य गुस्से में हैं। इस आंदोलन के लोगों ने राज्य के प्रमुख के बतौर ब्रिटिश महारानी के बने रहने का विरोध किया था और उनकी जगह किसी न्यूजीलैंडवासी को आसीन करने का समर्थन किया था। समूह के अध्यक्ष लेविस हेल्डन ने कहा कि यह फैसला दिखाता है कि ब्रिटिश शाही परिवार न्यूजीलैंड के लिए यह करने में सक्षम नहीं है। प्रधानमंत्री हेलेन क्लार्क ने रेडियो न्यूजीलैंड से कहा कि यह फैसला किसी रोक को प्रदर्शित नहीं करता। उन्होंने कहा कि मेरे विचार में हर कोई यह समझता है कि रानी खुद 80 की उम्र में हैं और वह जल्द मिली किसी सूचना पर लंबी दूरी का सफर करने की स्थिति में नहीं हैं। ब्रिटिश रानी ने सर एडमंड के परिजनों को विंडसर कैसल स्थित अपने निजी चर्च में अप्रैल में होने वाले एक स्मृति कार्यक्रम में आमंत्रित किया है। क्लार्क ने कहा कि यह कार्यक्रम बहुत दुर्लभ और बहुत खास है। गौरतलब है कि सर एडमंड हिलेरी को रानी एलिजाबेथ ने जुलाई 1में नाइट की उपाधि दे कर सम्मानित किया था। बाद में वह नाइट ऑफ गार्टेर से नवाजे गए थे, जिससे अब तक सिर्फ 12 जीवित लोगों को ही नवाजा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हिलेरी की विदाई पर नदारद शाही परिवार