DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंसेक्स का 5वां सबसे बड़ा गोता

विदेशी शेयर बाजारों में मंदे और मुनाफावसूली के दबाव के बीच देश के शेयर बाजार आज लगातार पांचवें दिन रेत की दीवार की तरह ढहते नजर आए। बीएसई का सेंसेक्स अंकों के लिहाज से पांचवीं बड़ी गिरावट 687 अंक और एनएसई का निफ्टी चौथे बड़े नुकसान 211 अंक के साथ बंद हुए। इस सप्ताह शेयर बाजार बिकवाली की पूरी तरह गिरफ्त में रहे। बीएसई का सेंसेक्स सप्ताह के दौरान कुल 1815 अंक टूटा। इस वर्ष दस जनवरी के 21206.77 अंक के रिकार्ड की तुलना में सेंसेक्स 2221.71 अंक नीचे आ चुका है।ड्ढr बाजार सूत्रों के अनुसार विदेशी शेयर बाजारों की मंदी का दबाव यहां दिखा। मुनाफावसूली का चौतरफा जोर रहने से बीएसई के किसी भी वर्ग का सूचकांक बिकवाली के दबाव से बच नहीं पाया। कारोबार की शुरुआत से ही बाजार पर बिकवाली का दबाव था, दोपहर के आसपास के कामकाज में तेजी की किरण दिखाई दी, लेकिन इसका फायदा नहीं दिखा। शुरू में कल (गुरुवार) के 100.70 अंक की तुलना में 1अंक पर नीचे खुले सेंसेक्स ने ऊपर और नीचे के स्तर पर 800 अंक की उठापटक देखी। ऊपर में 1अंक और नीचे में 180.42 अंक तक गिरने के बाद सेंसेक्स 687.12 अंक अर्थात 3.4प्रतिशत की गिरावट से 1013.70 अंक रह गया। एनएसई का निफ्टी कल के 50 अंक की तुलना में 211.20 अंक टूटकर 5702 अंक रह गया। मझौली और लघु कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली रही। इनके सूचकांक क्रमश: 446.30 तथा 57अंक नीचे आए। इन दोनों वगर्ों के सूचकांकों में भारी बिकवाली को देखते हुए बीएसई में सत्र के दौरान 280 कंपनियों के शेयरों में हुए कामकाज में मात्र 35अर्थात 12.42 कंपनियों के शेयर ही बढ़त पा सके। तेईस कंपनियों के शेयर स्थिर और 86.78 प्रतिशत अर्थात 2508 कंपनियों के शेयर नीचे आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेंसेक्स का 5वां सबसे बड़ा गोता