DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आठ मेधावी निर्धन छात्रों को अध्ययन के लिए 1.17 लाख की सहायता

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को 8 मेधावी निर्धन छात्रों को उच्च तकनीकी शैक्षणिक संस्थानों में अध्ययन के लिए 1.17 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी। उक्त छात्रों या उनके परिजनों ने समय-समय पर जनता दरबार में मुख्यमंत्री से मिलकर आर्थिक सहायता की मांग की थी। श्री कुमार के निर्देश पर उपसचिव ब्रजकिशोर पाठक ने नामांकन शुल्क की राशि संबंधित शिक्षण संस्थानों को बैंक-ड्राफ्ट के माध्यम से भेज दिया है। अबतक राज्य के 133 मेधावी छात्रों को लगभग 30 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जा चुकी है। मुख्यमंत्री राहत कोष से नवादा के देवाशीष कुमार को आईआईटी खड़गपुर से बीटेक के लिए 175पये, औरंगाबाद के धीरेन्द्र कुमार धीरू को भोपाल स्थित होटल प्रबंधन, खान-पान तकनीक एवं पोषण आहार संस्थान में पढ़ाई के लिए 14750 रुपये, नालन्दा की रश्मि रंजन चौधरी को हटिया स्थित नेशनल इन्स्टीटय़ूट ऑफ फाउंड्री एण्ड फोर्ज टेक्नोलॉजी से बीटेक के लिए 15000 रुपये, गिरियक के सत्येश कुमार को सिल्चर स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान से बीटेक के लिए 16700 रुपये, सुपौल के लोकमान्य आलोक को आईआईटी गुवाहाटी से बीटेक के लिए 100 रुपये, खगड़िया के आनन्द मोहन को इलाहाबाद स्थित मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान में नामांकन के लिए 15000 रुपये, जहानाबाद के विनोद कुमार को आईआईटी कानपुर से एमएससी के लिए 6450 रुपये और नालन्दा के चन्दन कुमार को बीआईटी सिन्दरी से बीटेक के लिए 12205 रुपये दिये गये हैं।ड्ढr ड्ढr जदयू किसान सभा के जिला प्रभारियों की बैठकड्ढr पटना (हि. ब्यू.)। जदयू किसान सभा के जिला प्रभारियों की बैठक स्थानीय पार्टी मुख्यालय में डा. अशोक कुमार वर्मा की अध्यक्षता में शनिवार को हुई। बैठक में राज्य में बिजली संकट पर केन्द्र सरकार व राजद के केन्द्रीय मंत्रियों के असहयोग पर चिंता व्यक्त की गई। इसके अलावे जिन जिलों में अब तक संगठन का जिला सम्मेलन नहीं हो पाया है वहां फरवरी में सम्मेलन कराने का फैसला भी लिया गया। बैठक में डा. कुमुद वर्मा, महेन्द्र मालाकार, जयप्रकाश नारायण सिंह, प्रभानंद तिवारी, सुरेन्द्र प्रसाद यादव, संजीव कुमार, रामतीर्थ पासवान और कमलेश कुमार वर्मा तथा लक्ष्मी यादव थे।ड्ढr ड्ढr ‘प्रशिक्षण कार्यक्रम’ शुरूड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। सरकार ने राज्य के सभी 64 आंगनबाड़ी प्रशिक्षण केन्द्रों पर ‘प्रशिक्षण कार्यक्रम’ शुरू किया है। इसका मकसद समेकित बाल विकास सेवा कार्यक्रम के तहत राज्य सरकार द्वारा संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर काम करने वाली सेविकाओं को सही तरीके से प्रशिक्षित कर उनकी कार्यशैली को विकसित करना है। आईसीडीसी निदेशालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार सूबे के 64 आंगनबाड़ी प्रशिक्षण केन्द्रों में सेविकाओं को 30 दिनों के जॉब कोर्स प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए निदेशालय स्तर से ही कार्यक्रम तय कर दिया गया है। प्रशिक्षण लेने के दौरान हर सेविका को यात्रा भत्ता के रूप में 150 रुपए का भुगतान प्रशिक्षण केन्द्रों के मार्फत किया जाएगा। इस अवधि में सेविकाओं को और किसी भी कार्यक्रम में भाग नहीं लेने की हिदायत दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आठ मेधावी निर्धन छात्रों को अध्ययन के लिए 1.17 लाख की सहायता