अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिल्म निगम विकास के लिए 50 करोड़

भी ‘गांधी’ (1जैसी फिल्मों के निर्माण में हिस्सेदार और अब लगभग तंगहाल हो चुके राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम (एनएफडीसी) पर सरकार का ध्यान गया है। सूचना व प्रसारण मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, सार्वजनिक क्षेत्र की इस कंपनी की माली हालत सुधारने की कोशिशें तेज हो गई हैं और इसे फिर से सक्रिय करने की तैयारी है। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि निगम के पुनरुद्धार के लिए करीब 50 करोड़ रुपये की कुल राशि रखना तय किया गया है। इस राशि में से एक हिस्सा निगम को उसके मौजूदा कर्जे की माफी के तौर पर दिया जाएगा।ड्ढr 1में स्थापित और छोटे-मंझोले बजट की कई बेहतरीन फिल्मंे बनाने वाला निगम पिछले कुछ सालों में निष्क्रिय-सा हो गया था। इसके लिए फिल्में बना चुके लोगों में सत्यजित राय, श्याम बेनेगल, अडूर गोपालकृष्णन, गोविन्द निहलानी, मृणाल सेन, मीरा नायर, सईद मिर्जा जैसे दिग्गज फिल्मकारों का नाम शुमार है। सरकार से वित्तीय सहायता के आश्वासन के बाद सालों बाद निगम एक बार फिर सक्रिय हो गया है। इसने फिल्म निर्माताओं से को-प्रोडक्शन करने की इच्छा जतायी है। निगम ने निर्माताओं से कहा है कि वे प्रस्तावित फिल्म (जिसे वे बनाना चाहते हैं) की पटकथा और उसके कुल बजट का न्यूनतम 30 प्रतिशत हिस्सा उपलब्ध कराने का लिखित आश्वासन उसको दें और बाकी धन वह खुद लगाएगा। मंत्रालय की सहमति से निगम फिल्मकारों की एक समिति बनाएगा, जिसका काम पांच फिल्मों का चुनाव करना होगा, जो वह निजी निर्माताओं के साथ मिलकर बनाएगा। फिलहाल निगम एक से दो करोड़ की बजट की फिल्में बनाने का इच्छुक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फिल्म निगम विकास के लिए 50 करोड़