अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक ट्रेन जिसमे समाया सम्पूर्ण ब्रह्मांड

विश्व के दिलचस्प तथ्यों तथा वैज्ञानिक शोध से सुसज्जित साईंस एक्सप्रेस इन दिनों मध्य प्रदेश के सबसे बड़े रेलवे जंक्शन इटारसी में है और दर्शकों को अपनी ओर खींच रही है। सफेद रंग की 16 डिब्बों की यह ट्रेन पूरी तरह वातानुकूलित है जिसके 13 डिब्बों में प्रदर्शनी लगी है। प्रदर्शनी में तीन सौ से अधिक दर्शनीय प्रतिबिंब और 150 से अधिक वीडियो क्िलप्स शामिल हैं। प्रदर्शनी के पहले चरण में इसको देश के 57 शहरों मे 2२ लाख 5३ हजार लोगों ने देखा। दूसरे चरण की शुरूआत 30 नवम्बर 2008 को हुई। दिल्ली से रवाना इस ट्रेन का इटारसी में 34वां पड़ाव है।ड्ढr ड्ढr साइंस एक्सप्रेस का उद्देश्य बच्चों में विज्ञान के प्रति जिज्ञासा बढ़ाना है। दूसरे चरण में लाख से अधिक लोग साइंस एक्सप्रेस का अवलोकन कर चुके हैं। मुस्कान संस्था के मोनू व शिवा ने कहा कि विज्ञान को जानने का यह बहुत अच्छा माध्यम है अब तक सिर्फ किताबों से ही इस तरह की जानकारी मिलती थी। इसमें अंतरिक्ष की झलकियों ब्लैक होल्स ्गैलेव्सी बिग बैग व मस्तिष्क की कार्यप्रणली की जानकारी है। आदिवासी विकासखंण्ड केसला से बच्चों को लेकर आए प्रभारी राजेश पाराशर ने कहा कि इस ट्रेन से विज्ञान के प्रति लोगों की रूचि बढ़ेगी। दैनिक जीवन में शरीर विज्ञान खगोल विज्ञान और देश के परम्परागत ज्ञान को सरल माडलों द्वारा दर्शाया गया है।ड्ढr ड्ढr साइंस एक्सप्रेस के साथ चल रहे प्रोजेक्ट के आर्डिनेटर दिलीप मिर्जापुरे ने बताया कि ट्रेन में विभिन्न राज्यों से 35 साइंस कम्यूनिकेटर शामिल हैं। जो साइंस एक्सप्रेस का भ्रमण करने आ रहे बच्चों व लोगो को जानकारी दे रहे है। इसका उद्देश्य विज्ञान का महत्व बताया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक ट्रेन जिसमे समाया सम्पूर्ण ब्रह्मांड