अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक के चुनाव पर नजर पश्चिमी देशों की: ब्राउन

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री गार्डन ब्राउन ने कहा कि पश्चिमी देश पाकिस्तान में आगामी 18 फरवरी को होने वाले आम चुनाव के बाद वहां के हालात पर पैनी नजर रखेंगे। अगर वहां पर स्थितियां सामान्य न हुई तो वे उसे अपना समर्थन देना बंद भी कर सकते हैं। पश्चिमी देशों ने आतंकवाद से लड़ाई में परवेज मुशर्रफ को अपना समर्थन दिया था। हिन्दुस्तान टाइम्स से एक खास भंेट में ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें पाकिस्तान में होने वाले चुनाव का इंतजार करना चाहिए। उसके बाद ही अंतरराष्ट्रीय बिरादरी का रुख साफ हो पाएगा। उन्होंने इस बात को प्रधानमंत्री डा.मनमोहन सिंह के साथ अपनी मुलाकात में भी जाहिर कर दिया। गार्डन ब्राउन ने यह भी कहा कि अल कायदा से लड़ाई में हमें पाकिस्तान की मदद की एक हद तो मदद चाहिए ही। अल कायदा का खात्मा भी तो करना है। यह तो कोई भी नहीं चाहेगा कि पाकिस्तान में अल कायदा अपने और पैर पसार ले। हमने तालिबान को अफगानिस्तान में फिर से जमने का मौका नहीं दिया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद को बेहद अहम मानते हैं। किसी भी देश में आतंकवाद को हम स्वीकार नहीं कर सकते। आतंकवाद के खिलाफ हमारा सतत संघर्ष जारी रहेगा। आतंकवाद और सुरक्षा जैसे सवालों के बाद ब्राउन ने कहा कि अब वक्त की जरूरत है कि विश्व बैंक को पर्यावरण और विकास बैंक में तब्दील कर दिया जाए। ताकि वह विकासशील देशों की उर्जा संबंधी आवश्यकतओं को पूरा करने में मदद कर सके। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक के चुनाव पर नजर पश्चिमी देशों की: ब्राउन