DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाकपा माले के बिहार बंद का मिलाजुला असर

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी लेनिनवादी) बिहार के कहलगांव में पुलिस द्वारा गोलीबारी की घटना विरोध में गुरुवार को बिहार बंद का राय में आंशिक असर रहा।भाकपा माले के प्रभाव वाले क्षेत्रों में बंद का असर देखा गया, जबकि राय के अन्य हिस्सो में बंद का मिश्रित असर रहा। राजधानी पटना में बंद का खास असर नहीं दिखा। सूत्रों ने बताया कि बंद के दौरान राजधानी पटना में भाकपा माले नेता रामजतन शर्मा समेत लगभग तीन सौ बंद समर्थकों को हिरासत में लिया गया और उन्हें गर्दनीबाग स्टेडियम में रखा गया। राय के कई हिस्सो में बंद समर्थकों ने राष्ट्रीय राजमागरे पर वाहनों की परिचालन को बाधित किया तथा कई रेलवे स्टेशनों पर भी धरना देकर ट्रेनों के आवागमन को बाधित किया। सूत्रों ने बताया कि राय सरकार ने बंद के मद्देनजर सुरक्षा का व्यापक प्रबंध किया है और संवेदनशील स्थानों पर पुलिस गश्त की जा रही है। उल्लेखनीय है कि कहलगांव में बिजली की मांग को लेकर आंदोलन के दौरान पुलिस फायरिंग में तीन लोगों के मारे जाने की घटना के विरोध में भाकपा माले ने गुरुवार के इस बिहार बंद का आयोजन किया है। राय की अन्य विपक्षी दलों ने इसी मुद्दे को लेकर 25 जनवरी को बिहार बंद की घोषणा की है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भाकपा माले के बिहार बंद का मिलाजुला असर