DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शतक न बना पाने का मलाल : भज्जी

भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह को मलाल है कि वे शतक बनाने से चूक गए। ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन भज्जी के पास नायाब मौका था जब वे विश्व चैंपियन के विरुद्ध शतक जमा सकते थे पर वे एक खराब शाट पर आउट हो गए। खेल की समाप्ति के बाद हरभजन सिंह ने कहा कि मैंने के मूर्खतापूर्ण शॉट खेला और आउट हो गया। जब मैं ड्रेसिंग रूम में गया तो हरेक खिलाड़ी मुझसे गिला कर रहा था। खासकर सचिन तेंदुलकर ने कहा कि मैंने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध शतक जमाने का दूसरा मौका खोया है। खैर, हरभजन सिंह ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध दूसरा अर्धशतक जमाकर ड्रेसिंग रूम में जश्न के मूड में थे। उन्होंने कहा कि जब मैं मैदान में जा रहा था तो ड्रेसिंग रूम में मैंने अपने साथियों को बताया कि मैं टीम के लिए कुछ रन बनाकर लौटूंगा। मैंने अनिल कुंबले के साथ चार सौ रन का आंकड़ा पार कराया और ड्रेसिंग रूम की ओर इशारा करके कहा कि देखो मैंने वह कर दिखाया जो कहा था। अपनी पारी के दौरान रन के लिए दौड़ते हुए हरभजन स्टुअर्ट क्लार्क से जोर से टकरा गए थे पर उन्होंने फौरन माफी मांग ली। भज्जी ने कहा कि मैं पीछे देखकर दौड़ रहा था और वास्तव में मैंने उन्हें काफी जोर से धक्का मार दिया। इसके बाद मैंने उन्हें छू कर माफी मांगी। ऐसे ही मैंने सिडनी में किया था लेकिन तब ब्रेट ली की पीठ मेरी ओर थी। इसके बाद वह मामला कुछ और ही रूप लेकर विकराल बन गया। हरभजन ने कहा कि उनकी टीम विश्व चैंपियन का शानदार तरीके से मुकाबला कर रही है और यह भी साफ कर रही है कि उन्हें हराया जा सकता है। उन्होंने कहा कि किसी भी टीम को हराया जा सकता है। हमारी टीम बहुत अच्छी है। हमारे पास महान खिलाड़ी हैं। ऑस्ट्रेलिया को जैसी चुनौती हमने दी और दुनिया की और कोई टीम नहीं दे रही है। अब हमारे पास रन हैं और गेंदबाज आत्मविश्वास के साथ गेंदबाजी कर सकते हैं। कोई भी बल्लेबाज अपने आसपास फील्डरों की चहलकदमी पसंद नहीं करता। ऐसा ही दबाव हम कल इस्तेमाल करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शतक न बना पाने का मलाल : भज्जी